उत्तराखंड

रामभक्तों के लिए गुडन्यूज, देहरादून से अयोध्या के लिए हवाई सेवा शुरू; सीएम धामी ने रवाना किया पहला विमान

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को दून-अयोध्या, दून-अमृतसर, दून-पंतनगर-वाराणसी को हवाई सेवा का शुभारंभ किया है। एलाइंस एयर ने प्रदेश सरकार की एयर कनेक्टिविटी स्कीम के तहत ये उड़ानें शुरू की हैं। 72 सीटर विमान की इस सेवा में पहले दिन अयोध्या के लिए सभी सीटें बुक थीं। अमृतसर के लिए पहले दिन 42 सीटें ही बुक हुईं। जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर हुए कार्यक्रम में मुख्यमंत्री धामी ने दीप प्रज्ज्वलन के बाद फ्लैग ऑफ कर इन हवाई सेवाओं का शुभारंभ किया।

इस मौके पर उन्होंने कहा कि सरकार पूरे प्रदेश में लोगों के आवागमन को सुविधाजनक और सरल बनाने के प्रयास कर रही है। मुख्यमंत्री ने इन सेवाओं के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि पीएम के नेतृत्व में हवाई सेवा क्षेत्र में देश ने अभूतपूर्व प्रगति की है। अयोध्या जा रहे यात्रियों से जयश्री राम के उद्घोष के बीच सीएम ने उन्हें यात्रा की शुभकामनाएं दीं। दून से पंतनगर के विमान में एक यात्री गया। पंतनगर से पांच यात्री वाराणसी गए।

समान अधिकार देने को देवभूमि से निकला यूसीसी ड्राफ्ट

ख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि मां गंगा जैसे उत्तराखंड से निकलकर देशभर को सिंचित करती है, ऐसे ही समान अधिकार देने के लिए देवभूमि से यूसीसी का डाफ्ट निकला है। राज्यपाल ने यूसीसी का विधेयक राष्ट्रपति को भेजा है। वहां से स्वीकृति मिलते ही इसे प्रदेश में लागू किया जाएगा। सीएम धामी ने बुधवार को रुद्रपुर के गांधी पार्क में नजूल भूमि पर निशुल्क फ्री होल्ड पट्टा वितरण और पीएम शहरी आवास योजना के तहत लाभार्थियों को किफायती आवास आवंटन के प्रपत्र सौंपे जाने के दौरान जनसभा को संबोधित करते हुए यह बात कही।

उन्होंने कहा रुद्रपुर में हाईवे चौड़ीकरण के चलते हटाए गए व्यापारियों को पुनर्वासित किया जाएगा और इसके लिए डीएम को निर्देशित किया गया है। रुद्रपुर में वेडिंग जोन में 300 दुकानें बनाई जाएंगी। यहां व्यापारियों को दुकानें दी जाएंगी। कार्यक्रम में सीएम की मौजूदगी में 2600 लाभार्थियों को निशुल्क नजूल भूमि पट्टा वितरित किए गए। 20 लाभार्थियों को सीएम धामी ने खुद अपने हाथ से पट्टे सौंपे। वहीं प्रधानमंत्री आवास योजना के 403 लाभार्थियों को स्वामित्व पत्र वितरित किए। इस दौरान 56704.93 लाख के 222 विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास भी किया गया।

Leave a Response