उत्तराखंड

उत्तराखंड की पांचों सीट पर मतदान आज, मैदान में 55 प्रत्याशी, 83 लाख से ज्यादा लोग करेंगे मतदान

उत्तराखंड की पांचों लोकसभा सीटों पर आज 83,37,914 मतदाता 55 प्रत्याशियों का भाग्य तय करेंगे। आयोग ने मतदान बढ़ाकर 75 प्रतिशत करने का लक्ष्य रखा है।2019 में 61.50 प्रतिशत मतदान हुआ था। पांचों सीटों पर मतदान के बाद चार जून को मतगणना होगी। चुनाव आयोग ने प्रदेशवासियों से अधिक से अधिक मतदान की अपील की है। मुख्य चुनाव अधिकारी डॉ. बीवीआरसी पुरुषोत्तम ने बताया, सुबह सात बजे से शाम पांच बजे तक मतदान होगा। मतदान शुरू होने से पहले सभी प्रत्याशियों के पोलिंग एजेंटों की मौजूदगी में मॉक पोल होगा।

विवाह कार्यों पर कोई रोक नहीं, अस्पताल खुले रहेंगे
अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया, परिवहन विभाग यातायात की व्यवस्था सुचारू रूप से संचालित करता रहेगा। किसी भी आम नागरिक के लिए यातायात में कोई असुविधा न हो, इसके लिए व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएंगी। विवाह कार्यों में लगे वाहनों पर भी प्रतिबंध नहीं होगा। सभी राजकीय चिकित्सालय, जिला चिकित्सालय, प्राथमिक और सीएचसी को 24 घंटे संचालित करने के निर्देश दिए गए हैं। जरूरी सेवाओं से जुड़े विभागों पेयजल, विद्युत, आपदा प्रबंधन और लोक निर्माण विभाग भी सभी व्यवस्थाएं 24 घंटे संचालित करते रहेंगे, ताकि मतदाताओं और पोलिंग पार्टियों को किसी भी प्रकार से असुविधा न हो।
प्रदेश में 1,365 क्रिटिकल और 809 असुरक्षित पोलिंग बूथ
अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी जोगदंडे ने बताया, राज्य में 1,365 क्रिटिकल पोलिंग बूथ और 809 वलनरेबल पोलिंग बूथ चिह्नित किए गए हैं। क्रिटिकल बूथों पर सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं, जबकि वलनरेबल बूथ ऐसे हैं, जहां पिछले चुनाव में कोई हिंसात्मक घटना हुई होगी। इन पोलिंग स्टेशन पर पर्याप्त फोर्स की व्यवस्था रहेगी। मतदान से 48 घंटे पूर्व सभी फ्लाइंग स्क्वॉड और स्टेटिक्स सर्विलांस टीम द्वारा सघन चेकिंग की जाती है। इसके दृष्टिगत राज्य में 293 फ्लाइंग स्क्वॉड और 252 स्टेटिक्स सर्विलांस टीम अलर्ट मोड पर रहेगी।
16.41 करोड़ रुपये की जब्ती
आचार संहिता प्रभावी होने के बाद से अभी तक 16 करोड़ 41 लाख मूल्य की जब्ती की गई है। पुलिस विभाग ने सबसे अधिक आठ करोड़ 94 लाख मूल्य की, आयकर विभाग ने छह करोड़ 14 लाख की, आबकारी विभाग ने 91 लाख मूल्य की जब्ती की गई है। पांच करोड़ 90 लाख की जब्ती कैश के रूप में, शराब के रूप में तीन करोड़ छह लाख मूल्य की जब्ती, नारकोटिक्स संबंधित मामलों में चार करोड़ तीन लाख मूल्य की जब्ती हुई है

शाम को पांच बजे तक जो भी मतदाता अपने मतदेय स्थल के भीतर दाखिल हो जाएंगे, वे सभी वोट दे सकेंगे। वोट डालने के लिए वोटर आईडी के अलावा 12 अन्य दस्तावेज का भी इस्तेमाल कर सकेंगे। अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी विजय कुमार जोगदंडे ने बताया, शाम तक 9,500 पोलिंग पार्टियां अपने मतदेय स्थल पर पहुंच चुकी थी। वे मतदान प्रारंभ होने की सूचना उपलब्ध कराएंगी।

लोकसभा चुनाव के कुल मतदाता
  • कुल मतदाता-83,37,914
  • महिला मतदाता-40,20,038
  • पुरुष मतदाता-43,17,579
  • ट्रांसजेंडर मतदाता-297
  • सर्विस मतदाता-93,187
  • फर्स्ट टाइम वोटर-1,48,090
  • 85 से अधिक आयु के मतदाता-65,160
  • दिव्यांग मतदाता-80,335
  • कुल पोलिंग स्टेशन-11,723
  • टिहरी लोकसभा के कुल मतदाता-15,77,664
  • गढ़वाल लोकसभा के कुल मतदाता-13,69,388
  • अल्मोड़ा लोकसभा के कुल मतदाता-13,39,327
  • नैनीताल लोकसभा के कुल मतदाता-20,15,809
  • हरिद्वार लोकसभा के कुल मतदाता-20,35,726
वाहनों की आवाजाही पर कोई रोक नहीं
चुनाव के दौरान निजी वाहनों की आवाजाही भी जारी रहेगी। दूसरे राज्यों से आने वाले निजी वाहनों को चेकिंग से गुजरना होगा। अन्य किसी तरह की कोई पाबंदी नहीं है।

मौसम भी देगा साथ
मतदान के दौरान मौसम भी साथ देगा। पर्वतीय इलाकों में जहां कुछ जगहों पर हल्की बूंदाबांदी हो सकती है तो मैदानी इलाकों में मौसम साफ रहेगा। मौसम विभाग ने फिलहाल हीट वेव से इन्कार किया है। लिहाजा, चुनाव आयोग को अच्छे मतदान की उम्मीद है।

इतने कर्मचारी लगे चुनाव ड्यूटी में
पोलिंग पार्टियों के लिए 55 हजार से ज्यादा कर्मचारी लगाए गए हैं। 11,729 पोलिंग पार्टियां अपने गंतव्य को पहुंच चुकी हैं। सुरक्षा में 65 कंपनी सीएपीएफ लगाई गई हैं। 20 कंपनी उत्तराखंड पीएसी की लगाई गई हैं। 15 हजार जवान होमगार्ड के मुस्तैद रहेंगे।

मतदान को लेकर ये भी जानें

  • जो भी मतदाता शाम पांच बजे पोलिंग स्टेशन के भीतर प्रविष्ट हो जाएगा, उसे वोट डालने का अधिकार मिलेगा। पांच बजे के बाद बाहर से कोई मतदाता भीतर वोट के लिए मतदेय स्थल में प्रवेश नहीं कर सकेगा।
  • 5,892 बूथों पर होगी वेबकास्टिंग। चुनाव आयोग और सभी जिलों के आरओ भी लाइव देख सकेंगे मतदान प्रक्रिया।
  • मतदान के दौरान कई केंद्रों पर ड्रोन से भी मॉनिटरिंग की जाएगी। ड्रोन की फुटेज व सूचना तय समय में कंट्रोल रूम तक दी जाएगी। उसी हिसाब से कार्रवाई की जाएगी।
  • प्रदेशभर में हर दो घंटे में मतदान का रुझान पता चलेगा। इस बार चुनाव आयोग ने पीडीएमएस सिस्टम लागू किया है।

Leave a Response