उत्तराखंड

प्रदेश में 439 किमी की 13 सड़कों की प्रशासनिक मंजूरी, 259 करोड़ किए जाएंगे खर्च

केंद्रीय स्वीकृति के बाद शासन ने भी प्रदेश में 439 किमी की 13 प्रमुख सड़कों के सुधारीकरण का काम शुरू करने के लिए प्रशासनिक मंजूरी दे दी है। इन सभी सड़कों पर केंद्रीय सड़क अवस्थापना निधि के तहत 259 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

अपर सचिव (लोनिवि) विनीत कुमार ने इस संबंध में आदेश जारी किए। आदेश के मुताबिक, सीआरआईएफ के तहत अल्मोड़ा लोस क्षेत्र में चंपावत जिले के रीठा क्षेत्र में राज्यमार्ग संख्या 64 के तहत धूनाघाट-भिंगराडा-रीठा-तलाड़ी व रीठा-मीनार तक करीब 58 किमी सड़क का सुधारीकरण होगा। इस पर 24.57 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इस राज्य मार्ग पर चंपावत-खेतीखान प्रभाग में भी 30 किमी सड़क पर 13.64 करोड़ से नवीनीकरण और सुरक्षात्मक कार्य होंगे।

सुरक्षा कार्यों पर खर्च होंगे 26 करोड़
चंपावत-मंच-तामली प्रभाग में 52 किमी हिस्से पर 21.43 करोड़ खर्च होंगे। बागेश्वर व पिथौरागढ़ में कांडासानिउडियार-रावतसेरा मोटर मार्ग के 40 किमी के हिस्से पर सुधारीकरण कार्य पर 39.45 करोड़ रुपये खर्च होंगे। पौड़ी जिले के चौबट्टाखाल में बिजोरपानी-कुण्जखाल-कोलाखा-पणिया-बसडांग-जयकोट मोटरमार्ग के 7.25 किमी हिस्से में 7.02 करोड़ से डामरीकरण का काम होगा।

जिले में सतपुली-कांडाखाल-सिसल्टी मोटरमार्ग के 32 किमी हिस्से का सुधारीकरण होगा, जिस पर 16 करोड़ खर्च होंगे। एकेश्वर ब्लाॅक में मरचूला सराईखेत बैजरो पोखड़ा सतपुली पौड़ी मोटर मार्ग के 24 किमी हिस्से के सुधारीकरण और सुरक्षा कार्यों पर 26 करोड़ खर्च होंगे। पौड़ी के श्रीनगर में भिकियासैंण-देघाट-दूंगीधर-महलचौरी-बदुवाबाण-चौखुटिया मोटर मार्ग के 33 किमी हिस्से में 26.40 करोड़ से सुधारीकरण के काम होंगे।

लैंसडौन में रिखणीखाल ब्लाॅक के बंजादेवी-रिखणीखाल मोटर मार्ग के 26.8 किमी हिस्से का सुधारीकरण 13.94 करोड़ से होगा। पौड़ी के ही बिरही-गौणा मोटरमार्ग के 13 किमी तक डामरीकरण, सुधारीकरण, सुरक्षात्मक कार्य होंगे, जिस पर 10.44 करोड़ खर्च होंगे। टिहरी के जौनपुर के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी विश्वेवर दत्त सकलानी मोटर मार्ग के 64.28 किमी में सड़क सुरक्षा के तह क्रैश बैरियर के कार्य होंगे। इस पर 22.30 करोड़ खर्च होंगे। नैनीताल संसदीय क्षेत्र में रानीबाग-भीमताल-खुटानी-चॉफी-पदमपुरी-धानाचूली-पंचेश्वर मोटर मार्ग के 30.8 किमी हिस्से में 17 करोड़ से सुधारीकर, रिटेनिंग वॉल, नाली निर्माण का कार्य होगा।

Leave a Response