उत्तराखंड

UP-MP, राजस्थान से सबसे ज्यादा भक्तजन, चारधाम रजिस्ट्रेशन के बिना नहीं दर्शन

चारधाम यात्रा का शुभारंभ 10 मई से हो गया है। गंगेत्री-केदारनाथ, बदरीनाथ चारों धामों में भक्तजनों की भारी भीड़ देखने को मिल रही है। यात्रा में सबसे अधिक उत्तर प्रदेश-यूपी, मध्य प्रदेश-एमपी, राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र से सबसे अधिक यात्री आ रहे हैं।

ऐसे राज्यों के मुख्य सचिवों को उत्तराखंड की मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने पत्र के माध्यम से और व्यक्तिगत तौर पर बातचीत कर सहयोग करने की अपील की है। मुख्य सचिव ने कहा है कि इन राज्यों से यात्री सिर्फ पंजीकरण के बाद ही चारधाम में आएं। जिस तारीख का पंजीकरण हुआ है, उसी तारीख को चार धाम पहुंचे।सर्वाधिक श्रद्धालुओं वाले 10 राज्यों में यूपी, एमपी, महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान, दिल्ली, बिहार, हरियाणा, पश्चिम बंगाल, छतीसगढ़ शामिल हैं। कहा कि रजिस्ट्रेशन के बिना किसी भी तीर्थ यात्री को दर्शन करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

चारधाम यात्रा में टूट रहे रिकॉर्ड 
चारधाम यात्रा में इस बार पिछले कई सालों के मुकाबले रिकॉर्ड तोड़ तीर्थयात्री पहुंच रहे हैं। इस बार दस दिन में पिछले दो वर्षों के मुकाबले दोगुने श्रद्धालु पहुंचे हैं। केदारनाथ धाम में सबसे अधिक श्रद्धालु आए हैं। यहां लगातार संख्या और बढ़ती जा रही है। मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने ऐसे प्रमुख राज्य, जहां से सबसे अधिक श्रद्धालु पहुंच रहे हैं(वहां से पंजीकरण के बाद ही श्रद्धालुओं को भेजने की अपील की।  मुख्य सचिव ने बताया कि 22 मई तक कुल 31,18,926 पंजीकरण हुए हैं। यमुनोत्री को 486285, गंगोत्री 554656, केदारनाथ 1037700, बदरीनाथ, 955858 और हेमकुण्ड साहिब को 84427 श्रद्धालुओं ने पंजीकरण करवाया है।

केदारनाथ में सवा चार लाख श्रद्धालु कर चुके दर्शन
केदारनाथ में गुरुवार को 32 हजार 652 श्रद्धालुओं ने दर्शन किए। बदरीनाथ में गुरुवार को 18416, गंगोत्री में 11701 और यमुनोत्री में 12800 तीर्थयात्री पहुंचे। उत्तराखंड की चारधाम यात्रा में अब तक नौ लाख 61 हजार तीर्थयात्री दर्शन कर चुके हैं। इसमें सबसे ज्यादा बाबा केदार के धाम में 10 मई से अब तक चार लाख 24 हजार श्रद्धालुओं ने दर्शन किए।

रजिस्ट्रेशन के बिना नहीं होंगे दर्शन
चारधाम यात्रा पर दर्शन जाने के लिए ऑफलाइन और ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन को अनिवार्य किया गया है। पुलिस-प्रशासन की ओर से हरिद्वार, ऋषिकेश समेत चारधाम यात्रा रूट पर यात्रियों के रजिस्ट्रेशन को चेक किया जा रहा है। यात्रियों का रजिस्ट्रेशन मिलने के बाद ही यात्रियों को दर्शन करने के लिए भेजा जा रहा है।

ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन बंद
केदारनाथ-बदरीनाथ, यमुनोत्री चारों धामों में यात्रियों की भारी भीड़ को देखते हुए सरकार ने जरूरी कदम उठाए हैं। यात्रा रूट पर यात्रियों की भीड़ को देखते हुए 31 मई तक ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन को बंद किया गया है। ऐसे में तीर्थ यात्रियों से अपील की गई है रजिस्ट्रेशन के बाद ही चारधाम को दर्शन को आएं।

चार धाम यात्रा के लिए ऐसे होगा रजिस्ट्रेशन
यमुनोत्री, केदरानाथ-गंगोत्री समेत चार धाम यात्रा पर जाने से पहले तीर्थ यात्रियों को अनिवार्य तौर से रजिस्ट्रेशन करवाना जरूरी है। तीर्थ यात्री पर्यटन विभाग की वेबसाइट registrationandtouristcare.uk.gov.in पर जाकर आसानी से रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। इसके साथ ही मोबाइल ऐप touristcareuttarakhand से भी रजिस्ट्रेशन हो सकता है।तीर्थ यात्रियों की सुविधा के लिए मोबाइल फोन से भी रजिस्ट्रेशन का विकल्प खुला है। व्हाट्सअप नंबर 8394833833 पर यात्रा टाइप कर पंजीकरण हो सकता है। टोल फ्री नंबर 01351364 नंबर पर भी  रजिस्ट्रेशन की सुविधा है।

Leave a Response