उत्तराखंड

बर्फबारी के लिए उत्तराखंड में जनवरी पर फरवरी भारी, केदारनाथ-बदरीनाथ चार धाम में गिरी बर्फ

उत्तराखंड में बारिश और बर्फबारी के लिए जनवरी पर फरवरी का महीना भारी पड़ता नजर आ रहा है। जनवरी का महीना पूरी तरह सूखा बीता था। केदारनाथ तक में 20 दिसंबर के बाद सीधे फरवरी महीने की शुरुआत में बर्फबारी हुई।

हालांकि, सोमवार को केदारनाथ धाम में एक फीट तक बर्फ गिरी है।  इधर, मौसम में ताजा बदलाव से उत्तराखंड की ऊंचाई वाली पहाड़ियों पर बर्फबारी का दौर फिर से शुरू हुआ हैं। औली, बदरीनाथ, केदारनाथ समेत अन्य ऊंचाई वाले इलाकों में सोमवार को बर्फबारी हुई।

23 फरवरी तक राज्य में बारिश और बर्फबारी का पूर्वानुमान मौसम विभाग ने जारी किया है। देहरादून, मसूरी, सहित अन्य मैदानी इलाकों में बर्फ गिरने के बाद तापमान में गिरावट दर्ज की गई है।

फरवरी में अब तक 35.4 एमएम बारिश
अक्तूबर, नवंबर और दिसंबर में 56 एमएम तक सामान्य बारिश के सापेक्ष 52 फीसदी कम 26.6 एमएम बारिश ही दर्ज की गई। इसके बाद जनवरी में भी मौसम ने निराश किया है और पूरे महीने सूखे की स्थिति रही।

मौसम विभाग ने पश्चिमी विक्षोभ के बेहद कमजोर रहने को इसकी वजह माना है। वहीं,फरवरी माह में अब तक राज्य में 35.4 एमएम बारिश दर्ज हो चुकी है। मौसम विभाग के अनुसार यह इस समयावधि में बारिश का सामान्य स्तर है।

केदारनाथ और तुंगनाथ में एक फीट बर्फ गिरी
रुद्रप्रयाग जिले में एक बार फिर से मौसम बदल गया और केदारनाथ धाम में बर्फबारी होने लगी। जबकि निचले इलाकों में हल्की बारिश हुई है। बारिश और बर्फबारी से जनपद में मौसम में ठंडक महसूस की गई। केदारनाथ में देर शाम तक करीब एक फीट नई बर्फ गिर गई है।

सोमवार को केदारनाथ धाम सहित मदमहेश्वर, तुंगनाथ, चन्द्रशिला आदि क्षेत्रों में बर्फबारी हुई है जबकि पर्यटक स्थल चोपता दुगलविट्टा में भी हल्की बर्फबारी हुई है। बीते दिन से जनपद में आसमान में बादल छाए रहे जबकि सोमवार को भी आसमान में सुबह से ही बादल छाए रहे।

दोपहर बाद निचले स्थानों में हल्की बारिश शुरू हो गई। केदारनाथ सहित सभी उच्च हिमालयी क्षेत्रों में बर्फबारी शुरू हो गई। केदारनाथ में देर सांय तक एक फीट से अधिक बर्फ गिर गई थी।

Leave a Response