उत्तराखंड

पूर्व आईएफएस अधिकारी किशनचंद के आवास पर ED का छापा

वित्तीय अनियमित्ताओं और अपने पद का दुरूपयोग करने के मामलों से घिरे पूर्व आईएफएस किशनचंद के हरिद्वार स्थित नंद बिहार कॉलोनी वाले घर पर भी ईडी द्वारा छापेमारी की गई है. देहरादून से आई दो गाड़ियों में ईडी की टीम ने सुबह करीब 7 बजे ही पूर्व आईएफएस किशनचंद के घर पर डेरा डाल लिया था।

मामले के अनुसार, कालागढ़ टाइगर रिजर्व वन प्रभाग में अवैध निर्माण और पाखरों में टाइगर सफारी के लिए पेड़ों के अवैध कटान का मामला सामने आया था। मामले में दो आईएफएस अधिकारियों को निलंबित किया गया था। मामले की जांच में आईएफएस किशनचंद पर कई संगीन आरोप लगे थे। जांच में आरोपों की पुष्टि होने का दावा सरकार ने किया था।

पूर्व आईएफएस किशनचंद पर मनी लॉन्ड्रिंग के तहत इससे पहले भी कार्रवाई की गई थी। इसमें उनके हरिद्वार और रुड़की में स्थित भूमि और भवन के साथ स्कूल और स्टोन क्रशर प्लांट को भी धनशोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत अटैच किया गया था।

अवैध तरीके से निर्माण कार्य कराने के साथ हरे पेड़ों के कटान और सरकारी धन के दुरुपयोग और फर्जी बिल बनाकर ठेकेदारों को भुगतान करने के भी गंभीर आरोप पूर्व आईएफएस किशनचंद पर हैं। शासन ने इसे भ्रष्टाचार मानते हुए विजिलेंस को मामले की जांच सौंप दी थी।

Leave a Response