देश/प्रदेश

बकरी को बचाने के चक्कर में महिला की हुई मौत

नई टिहरी, देवप्रयाग के डोबरी गांव निवासी एक महिला की हाइटेंशन लाइन की चपेट में आने से मौत हो गई। हादसा उस वक्त हुआ, जब महिला बकरियों को लेकर गांव के ही पास खेतों में गई हुई थी।

डोबरी गांव में 55 वर्षीय संता देवी पत्नी सुरेंद्र सिंह मंगलवार दोपहर को बकरी चराने खेतों की ओर गई हुई थी। अचानक उनकी बकरी हाइटेंशन तार की चपेट में आ गई।

बकरी को बचाने के लिए जैसे ही संता देवी ने हाथ लगाया, तो वह भी करंट की चपेट में आ गई। ग्रामीणों का आरोप है कि बिजली का खंभा टेढ़ा होने से उसके तार नीचे झूल रहे थे, जिस कारण महिला करंट की चपेट में आई।

ऊर्जा निगम की लापरवाही से ही महिला की जान गई है। उन्होंने बताया कि ऊर्जा निगम के अधिकारियों को करीब पंद्रह दिन पहले सूचना भी दे दी गई थी, मगर विभाग ने कोई कार्रवाई नहीं की।

प्रधान मुकेश सिंह ने बताया कि ऊर्जा निगम के अधिकारियों के आने के बाद ही शव को उठाया जाएगा। देर शाम तक ग्रामीण शव के साथ घटनास्थल पर ही डटे थे। ऊर्जा निगम के अधिशासी अभियंता वाईएस तोमर ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।

मृतक महिला के परिजनों को मुआवजा देने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। देवप्रयाग थानाध्यक्ष महिपाल सिंह रावत ने बताया कि ग्रामीणों की ऊर्जा निगम के अधिकारियों से वार्ता चल रही है। अगर ग्रामीणों की तरफ से तहरीर आएगी तो संबंधित विभाग के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

विशेष