कुमाऊंताजा खबरें

सर्वे पूरा होने से टनकपुर- बागेश्वर तक रेल लाइन निर्माण की उम्मीद जगी

हल्द्वानी: कुमाऊं के लोगों की टनकपुर से बागेश्वर तक रेल लाइन पहुंचाने की वर्षों पुरानी मांग जल्द पूरी होने की उम्मीद जताई जा रही है. पूर्वोत्तर रेलवे के मंडल रेल प्रबंधक आशुतोष पंत ने बताया कि टनकपुर-बागेश्वर रेल लाइन का सर्वे कर रेलवे बोर्ड को भेज दिया है. टनकपुर से बागेश्वर तक 6,966.33 करोड़ की लागत से 154.58 किलोमीटर लंबी रेलवे लाइन बिछाई जाएगी. ऐसे में टनकपुर-बागेश्वर रेल के संचालन से कुमाऊं मंडल के चंपावत, अल्मोड़ा और बागेश्वर के दूरस्थ क्षेत्रों के लोगों को सबसे ज्यादा फायदा मिलेगा.

डीआरएम आशुतोष पंत ने बताया कि टनकपुर-बागेश्वर रेल लाइन सर्वे का काम पूरा कर लिया गया है. 9 नवंबर को सर्वे रिपोर्ट रेलवे मंत्रालय को भेज दी गई है. रेलवे बोर्ड से अनुमति और बजट मिलते ही रेल लाइन बिछाने का काम शुरू कर दिया जाएगा. सर्वे रिपोर्ट में बताया गया है कि 13 क्रॉसिंग स्टेशन और एक टर्मिनल स्टेशन बनाया जाएगा. 155 किलोमीटर के बीच में टनकपुर, पूर्णागिरि कालदूंगा, पोलाबन, धनोर, पंचेश्वर, कारीघात, बिरकोला, नयाल, सल्यूर, जमनी, रालखोलीचक और बागेश्वर में स्टेशन बनाए जाएंगे. सर्वे के मुताबिक टनकपुर से बागेश्वर तक रेल लाइन पहुंचाने के लिए 93 बड़े और 183 छोटे ब्रिज बनाए जाएंगे. इसके साथ ही दो ओवर ब्रिज और तीन अंडर पास ब्रिज भी बनाए जाएंगे. इसके अलावा 72 टनल भी बनेंगे.

गौरतलब है कि टनकपुर से बागेश्वर रेल लाइन बिछाने की मांग लंबे समय से कुमाऊं की जनता उठा रही है. रेलवे ने वर्ष 2006 में रेल लाइन का सर्वे किया था. इसके बाद आगे की कार्रवाई पर काम बंद हो गया था. ऐसे में रेलवे प्रशासन द्वारा रेल लाइन का सर्वे कर रेल मंत्रालय को भेजा गया है. जिसके बाद कुमाऊं के लोगों को उम्मीद जगी है कि जल्द टनकपुर-बागेश्वर रेल लाइन का निर्माण शुरू हो जाएगा.

विशेष