राष्ट्रीय

बागेश्वर में पत्नी ने की पति की हत्या, पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेजा

बागेश्वर : बागेश्वर जिले के गरुड़ तहसील के बंड गांव में प्रवासी युवक जितेंद्र सिंह उर्फ दीपू की हत्या किसी और ने नहीं बल्कि उसकी पत्नी ने ही की थी। गुनाह कुबूल करने के बाद ही पुलिस ने उसे उसके घर से गिरफ्तार कर लिया। आरोपी को माननीय न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया है। गागरीगोल के बंड गांव निवासी जितेंद्र सिंह पुत्र स्व.लक्ष्मण सिंह उम्र 30 वर्ष की गत बुधवार को घर के पास ही संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। गुरुवार की सुबह ग्राम प्रहरी हरीश राम की सूचना पर बैजनाथ पुलिस ने घर के नीचे नाली से उसका शव बरामद किया। घटना के चौथे दिन शनिवार को बैजनाथ पुलिस ने मृतक की मां मुन्नी देवी की तहरीर पर मृतक की पत्नी दीपा देवी के खिलाफ धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज किया था।

रविवार को आई मृतक जितेंद्र की पीएम रिपोर्ट में सिर में चोट लगने से मौत का खुलासा हुआ। इस पर बैजनाथ पुलिस थानाध्यक्ष पंकज जोशी के नेतृत्व में बंड गांव गई और आरोपी दीपा देवी से कड़ी पूछताछ की। आरोपी दीपा देवी ने अपना जुर्म कबूल करते हुए पुलिस को बताया कि बुधवार की रात मेरे व मेरे पति के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा व हाथापाई हो गई थी। धक्का लगने से दीपू के सिर में अंदरूनी चोट लग गई और उसने मौके पर ही दम तोड़ दिया। पुलिस ने आरोपी पत्नी को घर से गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया है।

बचने के लिए गढ़ी फांसी लगाने की मनगढ़ंत कहानी

पुलिस से पूछताछ के दौरान मृतक की आरोपी पत्नी दीपा ने बताया कि हत्या से बचने के लिए उसने पति द्वारा शहतूत के पेड़ में फांसी लगाने वाली मनगढ़ंत कहानी रची।उसने पुलिस को बताया कि उसी ने पति को चादर में लपेटकर नाली में फेंक दिया था।पत्नी के जुर्म कबूलने के बाद परिजनों व ग्रामीणों द्वारा उस पर शुरु से ही हत्या की जो आशंका जताई जा रही थी, वह सच साबित हुई।

विशेष