देश/प्रदेश

सीएम की घोषणाओं को कब पहनाया जाएगा अमलीजामा

ऋषिकेश: जनता की मांग पर विगत वर्षों पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत और वर्तमान मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने नरेंद्र नगर में सब रजिस्ट्रार कार्यालय खोले जाने का आश्वासन दिया था.

बावजूद इसके दोनों मुख्यमंत्रियों की घोषणाएं अभी तक धरातल पर नहीं उतर पाई हैं. वहीं टिहरी शिफ्ट होने के बाद से नरेंद्रनगर के लोगों को सब रजिस्ट्रार कार्यालय नहीं होने के चलते जमीन संबंधी और अन्य प्रकरणों के पंजीकरण के लिए 150 किलोमीटर दूर देवप्रयाग जाना पड़ रहा है.

बता दें कि नरेंद्र नगर 63 वर्षों तक टिहरी जिले का जिला मुख्यालय रहा, मगर वर्ष 1989 में नरेंद्र नगर से जिला मुख्यालय नई टिहरी शिफ्ट कर दिया गया

तब से यहां के लोगों को रजिस्ट्रेशन करवाने 150 किलोमीटर दूर देवप्रयाग जाने को मजबूर होना पड़ रहा है. वहीं गरीब लोग अधिक दूरी होने और आर्थिक तंगी के कारण जमीन की रजिस्ट्री करवाने से भी वंचित रह जाते हैं.

गौर हो कि भूमि संबंधी पंजीकरण की व्यवस्था के लिए यहां महीने के 2 हफ्तों में 3-3 दिन सब रजिस्ट्रार को कैंप लगाने के आदेश दिए गए थे,

लेकिन ऑनलाइन होने के बाद यह व्यवस्था भी चौपट हो गई. वहीं अब इतने सालों के इंतेजार के बाद क्षेत्र की जनता इस इंतजार में है कि मुख्यमंत्री की घोषणा कब धरातल पर उतरती है.

विशेष