Latest Newsराष्ट्रीय

JNU में राम नवमी में नॉन वेज खाने को लेकर हुई हिंसक झड़प, 60 छात्र जख्मी

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में रविवार देर शाम लेफ्ट और राइट विंग (ABVP) के छात्रों के बीच हिंसक झड़प हो गई, जिसमें 60 से ज्यादा छात्र जख्मी बताए जा रहे हैं. हंगामा राम नवमी और नॉन वेज खाने को लेकर हुआ था, जिसके बाद कावेरी हॉस्टल की मेस में मारपीट हुई.

ABVP अध्यक्ष रोहित कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके अपना पक्ष रखा है. अब 2 बजे लेफ्ट विंग के छात्र संगठन दिल्ली पुलिस हेडक्वॉर्टर का घेराव करेंगे.

– ABVP के बाद JNUSU की तरफ से प्रेस कॉन्फ्रेंस की गई. उन लड़कियों को भी मीडिया के सामने लाया गया, जिनके घायल होने की बात कही गई है. कावेरी हॉस्टिल की मेस कमेटी ने कहा कि ABVP यह झूठ फैला रही है कि छात्र नॉन वेज नहीं खाना चाहते थे. कहा गया कि मेस वार्डन ने 9 अप्रैल को कहा था कि नॉन वेज ना बनाया जाए. लेकिन जब उनसे लिखित में जवाब मांगा गया तो कोई जवाब नहीं आया.

– JNU के मेन गेट के आस-पास दिल्ली पुलिस एक्टिव हो गई है. दिल्ली पुलिस की एक मिनी वैन में दिल्ली पुलिस के जवान पहुंचे हैं. मेन गेट के आस पास दिल्ली पुलिस की स्कार्पियो गाड़ी में अफसर पहुंचे हैं. दरअसल, 2 बजे लेफ्ट विंग ने जेएनयू से नई दिल्ली में स्थित PHQ तक मार्च का एलान किया है.

– हिंसा पर ABVP अध्यक्ष रोहित कुमार ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इसमें उन्होंने कहा, ‘नॉनवेज को लेकर कोई विवाद था ही नहीं. रामनवमी से एक दिन पहले उनको धमकी मिल रही थी कि रामनवमी की पूजा में हड्डियां फेंकी जाएंगी. पूजा को रोकने का साजिश रची गई. फर्जी नोटिस भेजा गया. छात्रों को कावेरी हॉस्टल में घुसने से रोका गया. लेफ्ट पार्टियों के छात्र ही लाठी, डंडे लेकर आए थे. उन्होंने हमारे झंडे फाड़े और छात्रों को रॉड, ट्यूब लाइट से पीटा.’

रोहित कुमार ने बताया कि पुलिस को कुल तीन शिकायत दी गई हैं. वह बोले कि जब भी जेएनयू में प्रोग्राम की कोशिश की जाती है, लेफ्ट उसको पटरी से उतारने की साजिश रचता है. वह बोले कि जेएनयू के कई हॉस्टल में कल चिकन बना था. नॉन वेज मुद्दा नहीं था, इसे बस लेफ्ट पार्टियों ने मुद्दा बनाया. वह यह भी बोले कि लेफ्ट पार्टियों का पाकिस्तान से संपर्क है.

– JNU विवाद पर यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य से भी सवाल किया गया. वह बोले कि यह छात्रों का मामला है, कोई भी व्यक्ति, बहुत से लोग शाकाहारी हैं और बहुत से मांसाहारी हैं. यह उनका व्यक्तिगत जीवन है. पर धार्मिक भावनाओं का अनादर नहीं करना चाहिए, मैं इसकी घोर निन्दा करता हूं.

– एबीवीपी के सेक्रेट्री उमेश चंद्र ने आरोप लगाया कि लेफ्ट विंग पहले से बवाल की तैयारी कर रहा था, जिसके वह सबूत देने को तैयार हैं.

– हिंसक झड़प पर दिल्ली पुलिस ने जेएनयू छात्र संघ, एसएफआई, डीएसएफ और AISA से जुड़े छात्रों की शिकायत पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्रों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. इसमें IPC की धारा 323/341/509/506/34 के तहत मामला दर्ज किया गया है. पुलिस का कहना है कि किन छात्रों को चोट आई है और कितने छात्रों की MLC हुई है अभी उनकी डिटेल्स कलेक्ट की जा रही हैं.

-पुलिस का यह भी कहना है कि विद्यार्थी परिषद के छात्रों की तरफ से अभी उन्हें लिखित शिकायत नहीं मिली है. अब इस मामले में पुलिस जांच कर रही है पुलिस का कहना है कि सारे सबूत और फैक्ट्स जुटाए जा रहे हैं. साइंटिफिक एविडेंस से बवाली छात्रों की पहचान की जा रही है.

– जेएनयू प्रशासन ने अब कथित नॉन वेज खाने से रोकने के मामले की जांच शुरू कर दी है. जेएनयू  प्रशासन ने कावेरी हॉस्टल की वार्डन और सिक्योरिटी स्टाफ को तलब किया है. इसके साथ-साथ छात्रों के पक्ष को भी जाना जाएगा. कहा गया है कि दोषी पाए जाने वाले छात्रों पर नियमों के तहत सख्त कार्रवाई होगी.

क्या है मामला

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में रविवार देर शाम एक बार फिर लेफ्ट और राइट विंग के छात्रों के बीच झड़प (JNU Violence) हो गई. JNU छात्र संघ अध्यक्ष के मुताबिक, जेएनयू में हिंसक झड़प हुई, जिसमें कुछ छात्र घायल हुए हैं. झड़प को लेकर वामपंथी छात्रों ने आरोप लगाया कि राम नवमी पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्रों ने उन्हें नॉन वेज फूड खाने से रोका.

लेफ्ट विंग के छात्रों ने यह भी आरोप लगाया कि एबीवीपी के छात्रों ने कावेरी हॉस्टल के मेस सचिव से मारपीट की. लेफ्ट विंग के छात्रों ने एबीवीपी छात्रों पर जेएनयू परिसर में गुंडागर्दी का आरोप लगाते हुए छात्रों को एकजुट होने का आह्वान किया.

Leave a Response