देश/प्रदेश

सिलोर पट्टी के ग्रामीणों ने जल संरक्षण कृषि व बागवानी के जरिये पलायन रोकने की कवायद

रानीखेत : तहसील की सिलोर पट्टी के ग्रामीणों ने जल संरक्षण, कृषि व बागवानी के जरिये गावों से पलायन को रोकने का मन बना लिया है। इसके लिए बकायदा समिति का गठन कर जिम्मेदारियां भी सौंपी। वक्ताओं ने संस्कृति संरक्षण को धार्मिक व सास्कृतिक आयोजनों पर जोर दिया।

सिलोर पट्टी के डढूली, सरना, मलोटा, सिलोर आदि गावों के ग्रामीणों की सोमवार को राम मंदिर में संयुक्त बैठक हुई। जिसमें बड़ी संख्या विशेषकर देश के विभिन्न राज्यों से पहुंचे प्रवासियों ने शिरकत की। बैठक में क्षेत्र के विकास, रोजगार, पलायन आदि पर गहन मंथन किया गया। तय हुआ कि समिति के माध्यम से गावों के विकास, कृषि व जल संरक्षण के अलावा जीर्णक्षीण भवनों का पुनर्निर्माण कर उन्हें पर्यटक आवास केंद्र के रूप में विकसित करेंगे। इससे जहां बेरोजगारी कम होगी, वहीं गांवों से पलायन रोकने में भी मदद मिलेगी। इसके अलावा संस्कृति संरक्षण के लिए आगामी सात व आठ जून को सिलोर महोत्सव के आयोजन पर भी सहमति बनी। बैठक की अध्यक्षता प्रकाश तिवारी ने की।

विशेष