देश/प्रदेश

विभागीय लापरवाही के चलते दूषित पानी पीने को मजबूर ग्रामीण

ऋषिकेश: इन दिनों रायवाला प्रतीतनगर नई बस्ती के सैकड़ों घरों में दूषित पानी पहुंच रहा है. होटलों से निकलने वाला दूषित पानी नालों के जरिए लोगों के घरों तक पहुंच रहा है, जिसे ग्रामीण पीने को मजबूर है. वहीं, दूषित पानी पीने से लोगों को संक्रामक बीमारियों के फैलने का डर सता रहा है.

ग्रामीणों का कहना है कि होटलों से निकल कर नाले में जा रहा दूषित पानी लोगों के घर तक पहुंच रहा है. ऐसे में बस्ती के सैकड़ों परिवार दूषित पानी पीने को मजबूर हैं.

ग्रामीण अजय साहू ने कहा कि गंदे पानी के लिए बनाए गए नाले का निर्माण कार्य अधूरा पड़ा है. जिसके कारण स्थानीय ग्रामीणों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

उनका आरोप है कि इस संबंध में कई बार विभागीय अधिकारियों को अवगत कराया जा चुका है, लेकिन जनता की समस्या का समाधान करने वाला कोई नहीं है. साथ ही दूषित पानी पीने से सैकड़ों लोग घातक बीमारीयों की चपेट में आ सकते हैं.

गौरतलब है कि हरिद्वार-देहरादून हाईवे चौड़ीकरण का कार्य चल रहा है तो दूसरी तरफ जल संस्थान भी पेयजल पाइप लाइन बिछाने में जुटा है. ऐसे में कई जगहों पर पेयजल पाइप लाइन टूट चुकी है.

हाईवे चौड़ीकरण के दौरान गंदे पानी की निकासी के लिए सड़क किनारे नाली तो बनाई गई. नाले की निकासी द्वार बंद होने से लोगों के लिए मुसीबत बनता जा रहा है.

विशेष