देश/प्रदेश

सांसद राजबब्बर के गोद लिए हुए गांव लामबगड़ में पीने के पानी को तरसे ग्रामीण

ग्राम्य विकास विभाग और जिला विकास प्राधिकरण के अधिकारियों ने गैरसैंण तहसील के सांसद आदर्श ग्राम लामबगड़ में लोगों के बीच जाकर विकास कार्यों की जानकारी ली। यहां की स्थिति देख अधिकारियों ने भी नाराजगी जताई। गांव में न तो स्वास्थ्य की व्यवस्था है न ही पानी की। सांसद आदर्श ग्राम में जो विकास कार्य होने चाहिए थे वह यहां कुछ भी नहीं हुए हैं।

पूर्व सांसद राजबब्बर ने आदर्श गांव के तहत लामबगड़ गांव को गोद लिया हुआ है।  अपर आयुक्त रोशन लाल, उपायुक्त एके राजपूत, जिला विकास प्राधिकरण के अधिकारियों, डीआरडीए के उपनिदेशक विवेक कुमार, प्रभारी बीडीओ बीएस गुसांई, ब्लॉक मिशन प्रबंधक डीएन कुनियाल ने गांव में जाकर वहां के विकास कार्यों की स्थिति जानी। इसके लिए उन्होंने ग्रामीणों के साथ प्राथमिक विद्यालय में बैठक की। उन्होंने कृषि, पशुपालन, चिकित्सा, ग्राम्य विकास, समाज कल्याण, शिक्षा, रोजगार गारंटी योजना पर चर्चा की।

अपर आयुक्त ने सिंचाई नहर लामबगड़ में पानी न पहुंचने पर आपत्ति जताई। अधिकारियों ने लामबगड़ सिंचाई नहर, चेकडैम, बिजली लाइन, पेयजल योजना और प्रा.वि. का निरीक्षण किया। साथ ही ग्रामीणों के आयुष्मान कार्ड भी देखे। जिपंस अवतार पुंडीर ने कहा कि सांसद आदर्श ग्राम के लिए जितने विकास कार्य होने चाहिए थे वह नहीं हुए हैं। गांव में मूलभूत सुविधाएं मुंह बाए खड़ी हैं। इस मौके पर प्रधान प्रेम सिंह, मदन सिंह, राधा देवी, दयाल सिंह, गोविंद सिंह, उमराव सिंह, मेहरबान सिंह आदि शामिल थे।

विशेष