देश/प्रदेश

यमुनोत्री धाम के कपाट खोलने का मुहूर्त अक्षय तृतीया पर्व पर 26 अप्रैल को अभिजीत मुहूर्त में दोपहर 12.41 बजे

उत्तरकाशी। यमुनाजी के शीतकालीन प्रवास खरसाली में देवी यमुना का प्रकटोत्सव लॉकडाउन के कारण सामान्य रूप से शारीरिक दूरी के साथ मनाया गया। इस दौरान यमुनाजी के निसाणों (प्रतीक चिह्नों) का अभिषेक कर दीपदान हुआ और यमुनोत्री धाम के कपाट खोलने का मुहूर्त भी निकाला गया। धाम के कपाट अक्षय तृतीया पर्व पर 26 अप्रैल को अभिजीत मुहूर्त में दोपहर 12.41 बजे खोले जाएंगे।

मान्यता है कि चैत्र शुक्ल षष्ठी को यमुनाजी पृथ्वी पर अवतरित हुई थीं। इसलिए यह दिन उनके मायके खरसाली में उत्सव के रूप में मनाया जाता है। सोमवार सुबह यहां पुजारियों और यमुनोत्री मंदिर समिति के पदाधिकारियों ने देवी यमुना की पूजा-अर्चना की। फिर यमुनाजी की भोग मूर्ति को पंचगव्य से स्नान कराकर, उन्हें गाय के घी से बने पारंपरिक व्यंजनों का भोग लगाया। यमुना मंदिर समिति खरसाली के सचिव कृतेश्वर उनियाल ने बताया कि यमुना जयंती पर यह अनुष्ठान पीढ़ि‍यों से चली आ रही परंपरा का हिस्सा है। लेकिन, इस बार कोरोना महामारी स बचाव के लिए हुए लॉकडाउन के कारण सभी ने शारीरिक दूरी रखते हुए देवी यमुना की पूजा-अर्चना की। विदित हो कि इस बार 26 अप्रैल को यमुनोत्री व गंगोत्री धाम, 29 अप्रैल को केदारनाथ धाम और 30 अप्रैल को बदरीनाथ के कपाट खोले जाने हैं।

विशेष