उत्तराखंड

चमोली में अंडरग्राउंड नालियां बनीं अवैध शराब का नया अड्डा

जोशीमठ. शराब माफिया चमोली जनपद में किन तरकीबों से अवैध शराब के कारोबार (Liquor Trade) को बढ़ा रहा है, इसका खुलासा हुआ तो पुलिस भी चौंक गई. नेशनल हाईवे पर अंडरग्राउंड नालियां बनाई गई थीं, ताकि पानी की निकासी का इंतज़ाम ठीक हो सके. लेकिन आलम ये है कि पानी तो नहीं बह रहा है बल्कि ये नालियां शराब जमा करने का अड्डा बन गई हैं. बद्रीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर सोनला के पास बने हुए स्क्रबर के अंदर से पुलिस (Chamoli Police) ने 102 पेटी शराब का बड़ा जखीरा बरामद किया.

चमोली जनपद की पुलिस अधीक्षक श्रीमती श्वेता चौबे ने पुलिस टीम को नशे के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं, जिसके तहत पुलिस जगह-जगह छापेमारी और चेकिंग अभियान चला रही है. लेकिन शराब माफिया पुलिस की सख्ती के बावजूद नयी नयी जुगाड़ खोज रहा है. चौबे ने सीओ को भी नशे के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे, जिसके बाद से लगातार पुलिस टीम नशे के अवैध कारोबार के खिलाफ कार्रवाई कर रही है. बुधवार को चौबे की अगुवाई में ही बड़ी छापेमारी की गई.

ज़ब्त शराब की कीमत क्या है?
कर्णप्रयाग पुलिस के पर्यवेक्षण में नशे के खिलाफ इस बड़ी कार्रवाई में भारी मात्रा में शराब अंडरग्राउंड स्क्रबर से ज़ब्त की गई. कर्णप्रयाग पुलिस को मुखबिर से इस बारे में सूचना मिली थी, जिस पर फौरी एक्शन लेते हुए विभिन्न ब्रांडों की व्हिस्की की बोतलों का जखीरा बरामद किया गया. चौबे ने पुलिस टीम को बधाई देकर नशे के खिलाफ अभियान जारी रखने को कहा. ज़ब्त की गई शराब की कुल कीमत 10 लाख रुपये के आसपास बताई गई है.

Leave a Response