देश/प्रदेश

दारोगा की फेसबुक आइडी हैक कर पहले उनके मित्र सगे-संबंधियों को मित्रता सूची में जोड़ा

रुद्रपुर : ठगों के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं। दारोगा की फेसबुक आइडी हैक कर पहले तो उनके मित्र, सगे-संबंधियों को मित्रता सूची में जोड़ा। इसके बाद फेसबुक पर ही रुपये मांगने लगा। पिथौरागढ़ में तैनात दारोगा की आइडी हैक कर पत्रकार से जरूरत होने का हवाला देकर 20 हजार रुपये की मांग की है। हालांकि, भनक लगने पर उसने ब्लॉक कर दिया। इस संबंध में पुलिस को भी सूचित किया गया।

अगर आप फेसबुक चला रहे हैं तो सावधान हो जाइए। इन दिनों कुछ ठगों का समूह अधिकारियों और पुलिस विभाग की आइडी हैक कर या हूबहू आइडी बनाकर रुपये ऐंठ रहे हैं। ऊधमसिंह नगर में यह पहला केस नहीं है। दिसंबर जनवरी में रुद्रपुर के एक पुलिस चौकी में तैनात उप निरीक्षक की आइडी सबसे पहले हैक कर उनके जानने वालों से रुपये मांगने की घटना सामने आई थी। इसके बाद फरवरी माह में दो मामले सामने आए।

पहला मामला : बीजेपी के महामंत्री विवेक सक्सेना की आइडी हैक कर उनके जानने वालों से रुपये मांगे गए। इसकी जानकारी जब तक उन्हें लगती, आरोपित ने एक को पांच हजार रुपये ठग चुका था।

दूसरा मामला : इसके बाद फरवरी में ही जिला उद्यान अधिकारी की आइडी हैक हुई। इसमें आरोपित ने उनकी आइडी से एडीएचओ को मैसेज भेज रुपयों की आवश्कता बताई। इसके बाद एडीएचओ झांसे में आए और उन्होंने 40 हजार रुपये ठग द्वारा बताए गए खाते में भेज दिया। मामले का पता चलते ही डीएएचओ ने पुलिस को तहरीर दी। पर अब तक आरोपित हत्थे नहीं चढ़ा।

तीसरा मामला : अभी यह मामला ठंडा भी नहीं हुआ था कि दो दिन पहले रुद्रपुर जिला मुख्यालय के एक पत्रकार के मोबाइल पर पिथौरागढ़ में तैनात दारोगा ओमप्रकाश शर्मा की आइडी से हेलो का मैसेज आया। हालचाल पूछने के बाद उसने पैसों की आवश्यकता बताकर 20 हजार रुपयों की मांग की। पत्रकार ने उसके मंसूबों को भांप लिया तो आरोपित ने तत्काल पत्रकार को ब्लॉक कर दिया। एक के बाद एक कई मामले सामने आ चुके हैं।

शिकायत मिलने पर पुलिस कार्रवाई कर रही है। सोशल मीडिया पर सावधानी की जरूरत है। लोगों से अपील है कि किसी अनजान को मित्रता सूची में न जोड़ें। इसके अलावा पासवर्ड बदलते रहें। साथ ही ऐसे मैसेज आने पर फोन कर कन्फर्म कर लें, जिससे ठगी के शिकार होने से बचा जा सके।

– हिमांशु पंत, साइबर सेल प्रभारी ऊधमसिंह नगर

विशेष