देश/प्रदेश

ऊधमसिंह नगर पुलिस ने भिक्षावृत्ति और कूड़ा एकत्र करने वाले बच्चों का स्कूल में कराया प्रवेश

रुद्रपुर : ऊधमसिंह नगर में भिक्षा नहीं शिक्षा दें अभियान के तहत पुलिस ने भिक्षावृत्ति और कूड़ा एकत्र करने वाले 25 बच्चों का राजकीय प्राथमिक विद्यालय भदईपुरा में प्रवेश कराया, जबकि शेष 94 अन्य बच्चों का भी शहर के अलग अलग प्राथमिक स्कूलों में एडमिशन कराया जाएगा।

पुलिस मुख्यालय के आदेश के बाद ऊधमसिंह नगर में पुलिस महकमा आपरेशन मुक्ति चला रहा है। भिक्षा नहीं शिक्षा दें स्लोगन के साथ पुलिस ने जिले भर में 241 भिक्षावृत्ति और कूड़ा बीनने वाले बच्चों को चिह्नित किया था। रुद्रपुर सर्किल में ही पुलिस ने 119 बच्चों को चिह्नित किया गया। इसके बाद पुलिस कर्मियों ने परिजनों की काउंसलिग कर बच्चों को स्कूल भेजने के लिए प्रेरित किया। इसके तहत गुरुवार को एसएसपी बरिदरजीत सिंह की मौजूदगी में भदईपुरा स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय में 25 बच्चों को आपरेशन मुक्ति के तहत प्रवेश दिलाया गया।

इस दौरान एसएसपी ने बताया कि शेष 94 बच्चों का भी रम्पुरा, भूतबंगला, ट्रांजिट कैंप, पहाड़गंज के सरकारी स्कूलों में प्रवेश कराया जाएगा। उन्होंने बच्चों के परिजनों से आग्रह किया कि वह अपने बच्चों को रोजाना स्कूल भेजें। इस अवसर पर एसपी सिटी देवेंद्र पिचा, सीओ अमित कुमार, कोतवाल कैलाश चंद्र भटट, प्राथमिक विद्यालय भदईपुरा के प्रधानाध्यापक विश्वनाथ शर्मा, रम्पुरा चौकी प्रभारी केजी मठपाल, एसआइ विपिन जोशी, आपरेशन मुक्ति के इंचार्ज दिनेश बल्लभ, कांस्टेबल प्रेम गिरी, शायरा बानो, नंदनी वर्मा, अंशुल कपूर समेत तमाम पुलिस कर्मी मौजूद थे।

चाइल्ड लाइन ने बांटी पुस्तक

रुद्रपुर : भदईपुरा स्थित प्राथमिक स्कूल में आयोजित कार्यक्रम के दौरान 94 बच्चे और उनके अभिभावक पहुंचे हुए थे। इस दौरान चाइल्ड लाइन की तरफ से बच्चों को स्कूली किताब और पेंसिल वितरित किया गया। चाइल्ड हेल्पलाइन 1098 की शायरा बानो ने बताया कि वह बच्चों के प्रवेश के बाद हर माह स्कूल में आकर उनकी प्रगति रिपोर्ट की जानकारी भी लेंगे।

आधार, राशन कार्ड को लगेगा शिविर

रुद्रपुर : आपरेशन मुक्ति के तहत स्कूल में प्रवेश कराए गए बच्चों और उनके परिजनों का आधार कार्ड और राशन कार्ड भी बनाया जाएगा। यह जानकारी एसएसपी बरिदरजीत सिंह ने दी। बताया कि मार्च माह में पुलिस लाइन में जिला प्रशासन के साथ शिविर आयोजित किया जाएगा। इस दौरान बच्चों और उनके परिजनों का राशन कार्ड और आधार कार्ड बनाया जाएगा। साथ ही जो लोग बेरोजगार हैं उन्हें रोजगार से भी जोड़ने का प्रयास किया जाएगा।

 

विशेष