विविध

बिहार में जबरदस्त सियासी हलचल, नीतीश से हाथ मिलाने को तैयार

बिहार में सियासी सरगर्मी बढ़ गई है। अगले दो दिनों में राज्य में चार अहम पार्टियों के विधायक दल की बैठकें होने वाली हैं। इनमें RJD, JDU, कांग्रेस और हम पार्टियां शामिल हैं। वहीं, राज्य में सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के घटक दलों, जनता दल-यूनाइटेड (JDU) और BJP में मनमुटाव की अटकलों के बीच प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (RJD) ने आज सोमवार को कहा कि अगर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, बीजेपी के साथ संबंध तोड़ देते हैं, तो वह उन्हें और उनकी पार्टी को गले लगाने के लिए तैयार है।

‘दोनों दलों की बैठकें, जब विधानसभा का सत्र संचालन में नहीं’ 

राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि मंगलवार को दोनों दलों की ओर से विधायकों की बैठकें बुलाना इस बात का स्पष्ट संकेत है कि स्थिति असाधारण है। उन्होंने कहा, “मुझे मौजूदा घटनाक्रम के बारे में व्यक्तिगत रूप से कुछ पता नहीं है, लेकिन हम इस तथ्य को नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं कि दोनों दलों (जिनके पास बहुमत हासिल करने के लिए पर्याप्त संख्या है) ने उस समय ऐसी बैठकें बुलाई हैं, जब विधानसभा का सत्र संचालन में नहीं है।”

‘…तो हमारे पास उन्हें गले लगाने के अलावा और क्या विकल्प’ 

तिवारी ने कहा, “अगर नीतीश NDA को छोड़ने का फैसला लेते हैं, तो हमारे पास उन्हें गले लगाने के अलावा और क्या विकल्प है। RJD, बीजेपी से लड़ने के लिए प्रतिबद्ध है। अगर मुख्यमंत्री इस लड़ाई में शामिल होने का फैसला करते हैं, तो हमें उन्हें अपने साथ लेना ही होगा।”

‘बिहार में क्षेत्रीय दलों के साथ ही NDA की सरकार चल रही’

वहीं, JDU प्रदेश अध्‍यक्ष उमेश कुशवाहा ने बीजेपी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा पर क्षेत्रीय दलों के खत्‍म होने के बारे में दिए गए बयान को लेकर हमला बोला है। उमेश कुशवाहा ने कहा कि बिहार में क्षेत्रीय दलों के साथ ही NDA की सरकार चल रही है, बयान देने से पहले उन्‍हें सोचना चाहिए। इस बीच, बीजेपी के दो बड़े नेता बिहार से दिल्ली रवाना हो गए हैं। उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन दिल्ली जा रहे हैं। उनके साथ-साथ सांसद रविशंकर प्रसाद दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं।

बिहार विधानसभा में पार्टियों के पास कितने विधायक? 

कुल सदस्य-   243 

एनडीए- 

बीजेपी- 77

जेडीयू- 45

हम- 4

निर्दलीय- 1

कुल- 127

महागठबंधन-

आरजेडी- 80

कांग्रेस- 19

लेफ्ट-  16

एआईएमआईएम 01

निर्दलीय- 01

Leave a Response