देश/प्रदेश

इस गेस्ट हाउस में कभी रुकते थे पर्यटक

टिहरीः सरकारी तंत्र की लापरवाही के कारण पर्यटन विभाग का गेस्ट हाउस इन दिनों अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है. करोड़ों की लागत से बना गेस्ट हाउस आवारा पशुओं का अड्डा बन गया है.

ऋषिकेश-गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग के बीच टिहरी जिले के अंतर्गत अगराखाल के पास पर्यटन विभाग द्वारा बनाया गया गेस्ट हाउस खंडर होता जा रहा है.

कुछ साल पहले इस गेस्ट हाउस में पर्यटकों की खूब आवाजाही रहती थी, लेकिन साल 2013 में आई आपदा में क्षतिग्रस्त हुआ यह गेस्ट हाउस अभी तक वीरान पड़ा है.

राज्य सरकार की उदासीनता के कारण पर्यटन विभाग की सम्पति बर्बाद हो रही है. टिहरी के अगराखाल में बना पर्यटन विभाग का आवारा पशुओं का अड्डा बन चुका है. सरकार ने सालों से इस ओर न तो ध्यान दिया और न ही इसे ठीक करवाया. गेस्ट हाउस की सालों से सफाई नहीं की गई है. कमरों के अंदर गोबर पड़ा हुआ है. खिड़कियों के शीशे भी टूटे पड़े हैं.

ऑल वेदर रोड के चौड़ीकरण का काम चल रहा है. सड़क का मलबा भी यहां गिरा हुआ है जिससे गेस्ट हाउस पर खतरा बना है. वहीं स्थानीय लोगों का कहना है कि यह गेस्ट हाउस काफी समय से बंद पड़ा है, जबकि पहले यहां पर यात्रियों की खूब रौनक रहती थी.

विभाग के अधिकारियों का कहना है कि अगराखाल में बना गेस्ट हाउस साल 2013 में आई आपदा में क्षतिग्रस्त हो गया था. उन्होंने बताया कि जिस जगह पर गेस्ट हाउस बना हुआ है, वहां की जमीन इस काबिल नहीं है कि गेस्ट हाउस की मरम्मत कराई जा सके.

विशेष