राष्ट्रीय

इंडिया में ThumsUp सॉफ्ट ड्रिंक्स की मार्केट का बना बादशाह

भारत में कोल्डड्रिंक्स का एक बहुत बड़ा मार्केट है. यह लोगों की लाइफस्टाइल का हिस्सा बन चुका है. न केवल गर्मियों के मौसम में, बल्कि सालों भर कोल्डड्रिंक का बिजनेस चलता है. मुख्यत: देखा जाए तो सॉफ्ट ड्रिंक्स बाजार में कई सारी कंपनियां मर्ज हो गई हैं और दो अंब्रेला के अंदर समाहित हो गई हैं. कोका कोला और पेप्सिको. लेकिन तमाम सारे साॅफ्ट ड्रिंक्स के बीच आपस में मैत्रीपूर्ण टक्कर चलता रहता है.

ये 4 हैं रेस में आगे

नील्सनआईक्यू के आंकड़ों के मुताबिक, देश में चार सॉफ्ट ड्रिंक्स सबसे आगे हैं. इनमें थम्स अप, स्प्राइट और कोका-कोला शामिल हैं. ये तीनों ही ड्रिंक कोका-कोला कंपनी के ब्रैंड हैं. इनके अलावा पेप्सिको का माउंटेन ड्यू भी टॉप 4 में शामिल है. बाजार में हिस्सेदारी के लिहाज से थम्स अप के बाद दूसरा नंबर आता है- स्प्राइट का. इसके बाद माउंटेन ड्यू और फिर कोका-कोला है.

पेप्सी इस रेस में पिछड़ गया है. बाजार में उसकी हिस्सेदारी 5 फीसदी से भी नीचे आ गई है. हालांकि पेप्सिको कंपनी की ओर से आंकड़े स्पष्ट नहीं हैं. कंपनी बीते 6 महीने को बेवरेजेज पोर्टफोलियो के लिए अब तक की सबसे अच्छी छमाही बताती है.नील्सनआईक्यू के प्रवक्ता का भी यही कहना है कि क्लाइंट के साथ गोपनीयता शर्तों के कारण वे अलग-अलग ब्रैंड की बाजार हिस्सेदारी नहीं बता सकते.

स्वाद ही नहीं, कैंपेन का भी असर

कोला-कोला कंपनी में इंडिया और साउथ वेस्ट एशिया के लिए मार्केटिंग हेड और वाइस प्रेसिडेंट अर्णब रॉय के मुताबिक, पिछले सालभर में थम्स अप की ग्रोथ 10 फीसदी से ज्यादा रही है. इसके पीछे कई वजहें रही हैं. इसमें थम्स अप के एड सॉफ्ट ड्रिंक नहीं, तूफान कैंपेन का भी बड़ा योगदान रहा. ब्रैंड स्पेशलिस्ट संतोष देसाई का कहना है कि थम्स अप को आगे बढ़ने में कई चीजों ने मदद की है. इसकी पहचान एक दमदार और मर्दाना ब्रैंड की है.

वे कहते हैं कि भारत में स्पाइसी फूड का चलन है और थम्स अप उसके साथ अच्छा तालमेल बिठाता है. थम्स अप की यह लोकप्रियता बिना विज्ञापन वाले दिनों से ही है. उनका कहना कि इसके समकक्ष जो सॉफ्ट ड्रिंक्स हैं, उनकी थम्स अप के बरक्स अपनी कोई पहचान नहीं है.

बहरहाल थम्स अप इकलौता ऐसा ब्रैंड है, जिसने एक अरब डॉलर की बिक्री का आंकड़ा पार किया है. दूसरे कार्बोनेटेड ड्रिंक्स के मुकाबले थम्स का टेस्ट भी दमदार बताया जाता है. विज्ञापन एजेंसियों के मुताबिक, टेस्ट द थंडर और तूफान जैसी टैगलाइंस से भी थम्स अप को फायदा मिला है.

थम्स अप के तूफान कैंपेन में शाहरुख खान, जसप्रीत बुमराह और विजय देवराकोंडा जैसे स्टार शामिल हो चुके हैं. इनके अलावा स्पोर्ट्स गेम्स में पार्टनरशिप से भी थम्स अप के मार्केटिंग कैंपेन में मदद मिली है.

Leave a Response