देश/प्रदेश

सितारगंज अपहरण कांड: तीन युवकों के अपहरण के पीछे रंजिश तो नहीं! कबाड़ी से चल रहा था विवाद

खटीमा: अपहरण की घटना के पीछे कहीं पुरानी रंजिश तो नहीं है। जिन तीन युवकों को अज्ञात बदमाश उठा ले गए, उनकी कबाड़ के कारोबारी सुनील यादव से रंजिश चल रही है। इस मामले में तीनों अपहृत युवक जानलेवा हमले समेत कई संगीन धाराओं में जेल भी गए थे।

खटीमा कोर्ट में सोमवार को जब सुनील यादव गवाही देने पहुंचा तो उसकी कार को भी पुलिस असलहा होने की सूचना पर चेक करने के बाद छोड़ा गया था। इससे पुलिस अपहरण को उस घटना से भी जोड़कर देख रही है।
नगर के किच्छा रोड पर आरके ढाबे के पास स्थित सुनील यादव का गोदाम है और पास में ही वह परिवार के साथ रहता है। बीते वर्ष 13 जून को बिना नंबर की कार सवार हथियारबंद नकाबपोश करीब सात बदमाशों ने सुनील पर जानलेवा हमला कर दिया था। हमले में सुनील गंभीर रूप से घायल हुआ था।

मामले में पुलिस की विवेचना में तीन आरोपी दोषमुक्त होने पर छूट गए थे और चार के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल हुई थी। इसमें तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था जबकि विक्रमजीत सिंह उर्फ विक्की ने कोर्ट में आत्मसमर्पण किया था। तभी से दोनों पक्षों में रंजिश चल रही थी।

घटना से उठे कई सवाल

सीओ सुरजीत कुमार के अनुसार सोमवार को इसी मामले में सुनील यादव की कोर्ट में गवाही थी। सुनील अपने चार-पांच साथियों के साथ गवाही देने कोर्ट पहुंचा था। इसी बीच खटीमा के कोतवाल संजय पाठक को फोन पर सूचना मिली कि सुनील की गाड़ी में असलहे हैं। इस सूचना पर कोतवाल ने सुनील की गाड़ी को चेक करने के बाद असलहे न मिलने पर छोड़ दिया था। सीओ ने कहा कि इस बिंदू पर भी गहनता से जांच की जा रही है।

एक्सिस बैंक के बाहर से तीन युवकों के अपहरण की घटना दोपहर दो बजे घटित हुई और पुलिस को शाम करीब 4:15 बजे अपहरण की सूचना मिली। वहीं, कोतवाली से एक्सिस बैंक की दूरी करीब एक किमी है। ऐसे में घटना के सवा दो घंटे बाद पुलिस को सूचना क्यों दी गई और सीसीटीवी फुटेज में कार में बैठाने के दौरान अपहृत हो रहे युवकों ने बलपूर्वक विरोध क्यों नहीं किया? यह सवाल पुलिस के सामने हैं, जिन पर पुलिस गहनता से पड़ताल कर रही है। संवाद

राज्य की सीमाएं सील, जिले में अलर्ट 

तीन युवकों के अपहरण की घटना के बाद पुलिस ने क्षेत्र से सटी राज्य सीमा को पूरी तरह सील कर दिया और जिले भर के थाने और कोतवाली में वायरलेस के जरिये सूचना दी गई। इसके अलावा पुलिस क्षेत्र में नाकाबंदी कर अपहरणकर्ताओं की तलाश में जुटी है।

विशेष