उत्तराखंड

सीमान्त उच्च हिमालय क्षेत्र में इनर लाइन परमिट पर तीन दिन की रोक

धारचूला पिथौराढ़ : उत्तराखंड में पिछले हफ़्ते से मौसम खराब है। मौसम विभाग ने भी चेतावनी जारी की थी। प्रदेश में कई मार्गों पर मलबा व पत्थर गिरने से आवागमन बाधित हैं। नदियों का जलस्तर बढ़ गया है। इस पर शासन ने चीन सीमा तक जाने वाले मार्ग के बंद होने से उच्च हिमालय जाने के लिए इनर लाइन परमिट पर तीन दिन के लिए रोक लगा दी है। आदि कैलास यात्रा पर जा रहा दल धारचूला में ही रोका गया है।

आदि कैलास और ओम पर्वत को जाने वाला तवाघाट-लिपुलेख मार्ग तवाघाट से मालपा तक बंद हो  चुका है। मलगाड़ के पास पहाड़ की तरफ से पत्थर और मलबा गिर रहा है। मार्ग पर खतरा बना हुआ है। जिसे देखते हुए इनर लाइन परमिट जारी करने बंद कर दिए हैं।

प्रशासन के अनुसार खतरे को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है। इनर लाइन परमिट जारी नहीं होने से आदि कैलास जा रहे पंद्रहवें दल के यात्री धारचूला में ही प्रवास कर रहे हैं।

वहीं चीन सीमा को जोडऩे वाला तवाघाट-सोबला -दारमा मार्ग तवाघाट से कंच्योती के बीच खेत व एक अन्य स्थान पर मलबा आने से बंद हो गया है। जिसके चलते उच्च हिमालयी दारमा का भी सम्पर्क भंग है। व्यास मार्ग पूर्व में ही बंद हो चुका है। खेत नामक स्थान पर मार्ग बंद होने से चौदास घाटी , नारायण आश्रम  का भी सम्पर्क कट चुका है।

Leave a Response