देश/प्रदेश

अल्मोड़ा में ‘तीसरी आंखों’ को लगा गृहण

अल्मोड़ा: सांस्कृतिक नगरी अल्मोड़ा में सुरक्षा की दृष्टि से कुछ समय पूर्व सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे, वर्तमान में अधिकांश खराब चल रहे हैं.

ऐसे में आपराधिक गतिविधियों की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है. शहर में 41 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे, लेकिन कई कैमरे खराब हो चुके हैं.

न तो इसकी फिक्र स्थानीय विधायक को है, न ही जिला प्रशासन और न ही नगर पालिका को, जिसके कारण यहां चोरी सहित अनेक आपराधिक घटनाओं पर नजर रखना मुश्किल है.

वहीं, स्थानीय लोगों का कहना है कि इस संबंध में कई बार लिखित और मौखिक रूप से प्रशासन को अवगत कराया गया, लेकिन जिम्मेदारों के कानों पर जूं तक नहीं रेंग रही है.

बता दें कि शहर में कांग्रेस सरकार के समय विधायक मनोज तिवारी ने अपनी विधायक निधि से 35 लाख के सीसीटीवी कैमरे शहर के विभिन्न स्थानों में लगवाए थे, लेकिन आज हालात ये हैं कि इसमें से अधिकांश कैमरे खराब हैं.

वहीं, स्थानीय निवासी इन कैमरों को ठीक कराये जाने की मांग प्रशासन से पिछले कई दिनों से करते आ रहे हैं, लेकिन जिम्मेदार अफसर के कानों पर जूं तक नहीं रेंग रही है. साथ ही नगर पालिका भी इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रही है.

स्थानीय नागरिक मनोज पंवार का कहना है कि 41 कैमरों में से सिर्फ 10 सीसीटीवी कैमरे ही काम कर रहे हैं. बाकी सभी कैमरे खराब चल रहे है,

जिसकी सुध न तो जिला प्रशासन ले रहा है और न ही नगर पालिका. ऐसे में अगर कोई अप्रिय घटना घटती है तो उसकी पूरी जिम्मेदारी प्रशासन और नगर पालिका की होगी.

विशेष