देश/प्रदेश

बर्फबारी के दौरान पहाड़ी इलाकों में नहीं होगी राशन की किल्लत

हल्द्वानी: उत्तराखंड के ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी और बरसात की आशंका को देखते हुए खाद्य विभाग ने 3 महीनों का अतिरिक्त राशन भेजा है. जिससे लोगों को बर्फबारी और बरसात के दौरान आसानी से खाद्य सामग्री मिल सके.

क्षेत्रीय खाद्य नियंत्रक अधिकारी कुमाऊं मंडल ललित मोहन रयाल ने बताया कि ऊंचाई वाले इलाकों में गेहूं चावल की खेप भेजी जा रही है, जबकि नैनीताल और अल्मोड़ा जिले में 20 फीसदी राशन भेजना बकाया रह गया है. पहाड़ी क्षेत्रों में 1 दिसंबर के बाद राशन बंटना शुरू हो जाएगा.

ललित मोहन रयाल ने बताया कि सीजन में जिन जिलों में भारी बर्फबारी और बरसात होती है, वहां लोगों को राशन का संकट झेलना पड़ता है. लिहाजा इस बार नवंबर माह में ही राशन की सप्लाई कर दी गई है.

इसके साथ ही राशन दुकानदारों को भी निर्देशित कर दिया गया है कि लोगों को 3 महीनों का अतिरिक्त राशन दिया जाए. उन्होंने बताया कि अगर राशन की और डिमांड आती है तो राशन का अतिरिक्त कोटा भेजा जाएगा.

इस संबंध में जिलाधिकारी सविन बंसल का कहना है कि सर्दी के मौसम में जिले के कई इलाकों में बर्फबारी की संभावना बनी रहती है. ऐसे में अधिकारियों को यह निर्देश जारी किया गया है कि बर्फबारी और बरसात में खाद्य, पेयजल और बिजली जैसी मूलभूत सुविधाओं के लिए जनता को कोई परेशानी न हो, इस पर विशेष ध्यान दिया जाए.

विशेष