Latest Newsउत्तराखंड

बिना रजिस्ट्रेशन वाले यात्रियों की चारधाम यात्रा में होगी ‘No Entry’

देहरादून: 3 मई से शुरू हुई चारधाम यात्रा में रिकॉर्ड तोड़ यात्री पहुंच रहे हैं. चारों धामों में भक्तों का रैला लगा हुआ है. जिसकी वजह से सरकार और प्रशासन द्वारा की गई व्यवस्था धराशायी होने लगी है. वहीं, अब तक 30 श्रद्धालुओं की जान चली गई है. जिसके बाद प्रशासन पहले से ज्यादा अलर्ट नजर आ रहा है. यही वजह है कि अब बिना रजिस्ट्रेशन के किसी भी यात्री को चार धाम जाने से रोकने का आदेश जारी हुआ है.

शुक्रवार को चारधाम यात्रियों के लिए रजिस्ट्रेशन अनिवार्य करने का आदेश जारी किया गया. जिसको लेकर पुलिस प्रशासन अलर्ट मोड में नजर आ रहा है. अब पुलिस बिना रजिस्ट्रेशन के यात्रियों की एंट्री पर सख्ती से रोक लगा रही है. चारों धामों के यात्रा मार्गों के प्रवेश वाले इलाकों में पुलिस चेक पोस्ट लगाकर सघन रूप से यात्रियों का रजिस्ट्रेशन चेक कर रही है. जिसके पास भी यात्रा का रजिस्ट्रेशन नहीं है, उसे चेक पोस्ट से ही वापस भेजा जा रहा है.

डीआईजी गढ़वाल करण सिंह नगन्याल ने कहा देर रात तक उन्होंने ऋषिकेश, हरिद्वार व टिहरी एसएसपी सहित गढ़वाल के संबंधित सभी अधिकारियों के साथ मुनिकी रेती पर बैठक की. इस दौरान उन्होंने सख्त निर्देश दिए कि सुबह 4 बजे से सभी चेकपोस्ट पर यात्रियों के रजिस्ट्रेशन की सघन चेकिंग की जाए. इस दौरान जिन यात्रियों का रजिस्ट्रेशन नहीं है, उसे चेक पोस्ट से बैरंग लौटा दिया जाए.

डीआईजी गढ़वाल करण सिंह नगन्याल का मानना है कि बिना रजिस्ट्रेशन यात्रा करने वालों को वापस करने के आदेश से चार धाम यात्रा को व्यवस्थित रूप से संचालन करने में काफी मदद मिलेगी. अभी तक कोई स्पष्ट आदेश न होने के कारण बिना रजिस्ट्रेशन के चलते भारी संख्या में अव्यवस्था हो रही थी. ऐसे में नए आदेश अनुसार कार्रवाई से यात्रा व्यवस्थित करने में मदद मिलेगी.

वहीं, हिमाचल से लगने वाले देहरादून के विकासनगर इलाके से यमुनोत्री यात्रा मार्ग पर भी सभी प्रवेश स्थानों पर पुलिस की संघन चेक पोस्ट लगाए हैं. जहां से बिना रजिस्ट्रेशन यात्रा करने वालों को वापस भेजा जा रहा है. विकास नगर क्षेत्र के यमुना पुल में सर्कल ऑफिसर सहित और फोर्स लगाई गई है. ताकि बिना रजिस्ट्रेशन के कोई भी यात्रा के लिए आगे जा ना सके.

ऋषिकेश से चारधाम मार्ग पर पहला चेक पोस्ट भद्रकाली में, दूसरा चेक पोस्ट तपोवन में और तीसरा चेक पोस्ट देवप्रयाग में रजिस्ट्रेशन चेकिंग के लिए लगाया गया है. वहीं, राफ्टिंग के बहाने भी कई लोग चारधाम यात्रा में बिना रजिस्ट्रेशन के जा रहे हैं. उसको देखते हुए ब्यासी और देवप्रयाग में ट्रिपल लेयर चेकिंग टीमें लगाई गई हैं. ताकि कोई भी बिना रजिस्ट्रेशन के चार धाम यात्रा ना जा सके.

डीआईजी गढ़वाल ने बताया कि अब रोडवेज बसों या अन्य टूरिस्ट वाहनों से बिना रजिस्ट्रेशन के चारधाम यात्रा करने वालों पर भी प्रतिबंध लगाया गया है. रोडवेज को निर्देश दिए गए हैं कि बिना रजिस्ट्रेशन यात्रा करने वालों को टिकट न दी जाए. चारधाम यात्रा कराने वाले टूर एंड ट्रैवल कंपनियों को भी रजिस्ट्रेशन को लेकर कड़े निर्देश जारी किए गए हैं. इसका उल्लंघन करने पर कार्रवाई की जाएगी.

चारधाम श्रद्धालु और यात्रियों की मदद के लिए पर्याप्त पुलिस बल लगाये गए हैं. व्यवस्थाओं पर भी जोर दिया जा रहा है. चारों धामों के मंदिर, यात्रा मार्गों और पड़ाव में पर्याप्त संख्या में पुलिस की व्यवस्था की गई है. डीआईजी खुद चार धाम के सभी मंदिरों से श्रद्धालुओं की संख्या और पुलिस इंफोर्समेंट को लेकर लगातार अपडेट ले रहे हैं. साथ ही आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दे रहे हैं.

Leave a Response