नेतागिरी

लोकसभा में CBI, ED चीफ का कार्यकाल बिल पर हो बवाल

संसद के शीतकालीन सत्र में बुधवार का दिन हंगामे भरा होने की पूरी उम्मीद है. लोकसभा में आज दो बिल पेश किए जाने हैं, जिन पर विवाद होना लगभग तय है. इन बिल में ED (प्रवर्तन निदेशालय) और CBI डायरेक्टर का कार्यकाल बढ़ाने का प्रस्ताव दिया गया है. विपक्ष इसके खिलाफ पहले ही मोर्चा खोल चुका है.

दूसरी तरफ राज्यसभा में 12 सांसदों के निलंबन का मुद्दा गरमाया हुआ है. विपक्षी सांसद लगातार धरने पर बैठे हुए हैं. आज कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के 120 सांसद एकजुटता दिखाने के लिए महात्मा गांधी की प्रतिमा के नीचे जारी धरने में शामिल होंगे.

लोकसभा में क्या होगा आज

पिछले हफ्ते केंद्रीय राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह दो बिल पेश किए थे. पहला सेंट्रल विजिलेंस कमीशन (संशोधित) बिल 2021 और दूसरा दिल्ली स्पेशल पुलिस इस्टेबलिशमेंट (संशोधित) बिल 2021. इन दोनों ही बिल को पास करने के लिए आज सदन में चर्चा होगी. विरोध के बावजूद माना जा रहा है कि केंद्र सरकार इसे पास करवाने की पूरी कोशिश करेगी. हालांकि विपक्ष ने इसके खिलाफ मोर्चा खोला हुआ है. विपक्ष का दावा है कि यह बिल गैर लोकतांत्रिक है और इस बिल को लाने के पीछे सरकार की मंशा ठीक नहीं है. कांग्रेस और टीएमसी समेत कई विपक्षी दल ED और CBI निदेशक का कार्यकाल पांच साल करने के खिलाफ हैं. अब तक 24 सांसद इस बिल के खिलाफ प्रस्ताव दे चुके हैं.

इससे पहले कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला इस मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा भी खटखटा चुके हैं. हालांकि केंद्र सरकार का दावा है कि कार्यकाल बढ़ाने का फैसला सही है. लोकसभा में बीजेपी के पास पर्याप्त सांसद है. ऐसे में विपक्ष के विरोध के बावजूद इन दोनों बिल के पारित होने की पूरी उम्मीद है. हालांकि विपक्ष की ओर से तीखी बहस, सदन से वॉकआउट और विरोध प्रदर्शन आज देखने को मिल सकता है.

Leave a Response