देश/प्रदेश

प्रदेश में जल्द हिमपात की आशंका

देहरादून, उत्तराखंड में गढ़वाल से लेकर कुमाऊं के अधिकांश जिलों में गुरुवार की सुबह से ही बादल छाए हैं। इससे बारिश के आसार भी बनने लगे हैं। वहीं, चारों धामों के साथ ही कुमाऊं के पिथौरागढ़ की ऊंची चोटियों में सुबह बर्फबारी हुई। मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्वानुमान के अनुसार चार धामों की चोटियों में हिमपात का दौर जारी रहेगा। साथ ही रुद्रप्रयाग, चमोली, उत्तरकाशी और पिथौरागढ़ में बारिश हो सकती है।

उत्तराखंड में मौसम का मिजाज फिर से बदलने लगा है। गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ, बदरीनाथ सहित पिथौरागढ़ जिले में उच्च हिमालयी क्षेत्र में बर्फबारी का दौर शुरू हो चुका है। इससे मैदानी इलाकों में सर्दी बढ़ गई है। मौसम विभाग के मुताबिक उत्तराखंड के चार जिलों में बारिश का भी अनुमान है।

15 नवंबर को चार पर्वतीय जिलों के अलावा अन्य क्षेत्रों में भी बारिश हो सकती है। साथ ही चारों धाम की ऊंची चोटियों में बर्फबारी का सिलसिला दूसरे दिन भी जारी रहने की संभावना है। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि आने वाले दो से तीन दिनों में उत्तराखंड में अधिकतम तापमान में दो से तीन डिग्री की कमी आ सकती है। 16 नवंबर से मौसम साफ होने की संभावना है।

ऊंची पहाडिय़ों में बर्फबारी और बारिश के कारण पर्वतीय क्षेत्रों में तापमान गिरने से ठिठुरन बढ़ती जा रही है वहीं हिल स्टेशन मसूरी में अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री अधिक 20.7 जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से चार डिग्री अधिक 11.2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। दून के अधिकतम तापमान में भी तीन डिग्री की उछाल के साथ 28.7 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। न्यूनतम तापमान 11.6 डिग्री सेल्सियस रहा।

विशेष