उत्तराखंड

अल्मोड़ा में स्टाफ के बगैर दान में मिली वैक्सीनेशन वैन के पहिए थमे

अल्मोड़ा। अल्मोड़ा में खड़ी वैक्सीनेशन वैन प्रदेश में लड़खड़ाती स्वास्थ्य सेवाओं को प्रमाणित कर रही है। दान में मिली इस वैन के लिए स्वास्थ्य विभाग स्टाफ की व्यवस्था नहीं कर सका है। हैरानी की बात यह है कि जनपद भ्रमण पर पहुंचे सीएम ने खुद इसका शुभारंभ कर इसे यहां के लोगों के लिए बेहतर बताया था।

टाटा मोटर्स ने अल्मोड़ा के दूरस्थ लोगों तक स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाने के उद्देश्य से एक वैक्सीनेशन वैन स्वास्थ्य विभाग को दान दी थी। वैन के माध्यम से दूरस्थ क्षेत्रों के लोगों को घर के नजदीक टीकाकरण की सुविधा मुहैया कराना था। साथ ही इसके माध्यम से इन क्षेत्रों में स्वास्थ्य शिविर लगाने की योजना थी।

21 नवंबर को सूबे के सीएम पुष्कर सिंह धामी ने अल्मोड़ा पहुंचकर इसे हरी झंडी दिखाई थी और इसे यहां के लोगों के लिए लाभदायक बताया। हरी झंडी दिखाने के बाद अब तक इस वैन के पहिये नहीं घूम सके हैं। स्वास्थ्य विभाग की सुस्ती से यह योजना शुरू होते ही दम तोड़ रही है। लाखों रुपये के टीकाकरण वैन का फायदा आम जनता को नहीं मिल पा रहा है। स्वास्थ्य विभाग इसके लिए चालक और अन्य जरूरी स्टाफ की व्यवस्था नहीं कर पाया है।

दो दिसंबर को जिला रेडक्रास समिति की बैठक में डीएम वंदना ने टीकाकरण वैन के संचालन के लिए चालक सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मियों की तैनाती के निर्देश दिए थे। दो दिन बाद भी इन निर्देशों का पालन धरातल पर नजर नहीं आ रहा है।

चालक और अन्य स्वास्थ्य कर्मी न होने से टीकाकरण वैन का संचालन नहीं हो रहा है। स्टाफ की व्यवस्था की जा रही है। जल्द इसका संचालन शुरू होगा।– डॉ. आरसी पंत, सीएमओ, अल्मोड़ा।

Leave a Response