Latest Newsउत्तराखंड

मौसम ने अचानक करवट बदली, उत्तराखंड के पहाड़ों पर जमकर हुई बर्फबारी

रुद्रप्रयाग: उत्तराखंड में गुरुवार को मौसम ने करवट बदली और पहाड़ों पर जमकर बर्फबारी हुई (Heavy snowfall in Uttarakhand) है. केदारनाथ धाम में भी 5 फीट तक बर्फ जमी हुई है. केदारनाथ मंदिर के आगे विराजमान नंदी की मूर्ति भी पूरी तरह बर्फ से ढक चुकी है. मंदिर समिति के लोगों ने नंदी की मूर्ति से बर्फ साफ की और फिर नंदी की मूर्ति को नए कपड़े पहनाए. बर्फबारी के चलते केदारनाथ में इन दिनों कोई नहीं है. कुछ साधु-संत मंदिर के निकटवर्ती क्षेत्र में रह रहे हैं.

किसानों के चेहरे खिले: वहीं चौपता-दुगलबिट्टा में बर्फबारी का आनंद उठाने के लिए सैलानी पहुंच रहे हैं. निचले इलाकों में बारिश के कारण लोग घरों मे दुबके हुए हैं. केदारघाटी में बर्फबारी के बाद तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई है. इस बारिश और बर्फबारी ने जहां पहाड़ में लोगों की दुश्वारियां बढ़ा दी है तो वहीं काश्तकारों को चेहरे पर रौनक लौट आई है. क्योंकि ये बारिश और बर्फबारी फसलों के लिए वरदान साबित होगी. 

आगे भी बारिश और बर्फबारी के आसार: मौसम विभाग की माने तो आने वाले कुछ दिनों तक मौसम के मिजाज में कोई बदलाव नहीं आएगा, यानी बारिश और बर्फबारी का दौरा आगे भी इसी तरह जारी रहेगी.

लोगों की मुश्किलें बढ़ीं: सीमांत इलाकों में जमकर बर्फबारी होने से पशुपालकों के सामने चारापत्ती का संकट बना हुआ है. वहीं कई क्षेत्रों में बर्फबारी के कारण यातायात बाधित हो गये हैं. केदारघाटी के केदारनाथ, मद्महेश्वर, तुंगनाथ, पवालीकांठा, मनणामाई धाम, पाण्डव सेरा, नन्दीकुण्ड, चोपता, मोहनखाल, कार्तिक स्वामी, घिमतोली, तोषी, चैमासी और गौडार सहित हिमालयी भू-भाग एवं सीमान्त क्षेत्र बर्फबारी से लकदक हो जाने से तापमान में भारी गिरावट महसूस होने से ग्रामीण घरों में कैद रहने के लिए विवश हो गये हैं.

Heavy snowfall in Uttarakhand

 केदारनाथ धाम का नजारा

सीमान्त इलाकों में जमकर बर्फबारी होने से कुण्ड-चोपता-गोपेश्वर मोटर मार्ग पर दुगलबिट्टा-चोपता के मध्य और रुद्रप्रयाग-पोखरी मोटर मार्ग पर कनकचैंरी-मोहनखाल के मध्य यातायात बाधित हो गया है. निचले क्षेत्रों में झमाझम बारिश होने से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. इधर, मिनी स्विटजरलैंड चौपता-दुगलबिट्टा में जमकर बर्फबारी हो रही है, जिस आनंद उठाने के लिए सैलानी पहुंच रहे हैं.

Leave a Response