देश/प्रदेश

सड़क को लेकर ढोल-दमाऊं के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचे ग्रामीण

उत्तरकाशी: चिन्यालीसौड़ तहसील के गमरी पट्टी ग्रामीण सड़क निर्माण न होने के कारण ग्रामीण आक्रोशित हैं. ग्रामीणों का आरोप है कि वो क्षेत्र की सड़क के लिए प्रशासन से लगातार शिकायत करके थक चुके हैं.

लेकिन अभी तक कोई भी उनकी मांग को सुनने को तैयार नहीं है. जिससे आक्रोशित ग्रामीण अब आर-पार की लड़ाई का मन बना रहे हैं. ग्रामीणों का आरोप है कि उनकी परेशानी किसी को नहीं दिख रहा है, जिस कारण वे उग्र आंदोलन करने को विवश होंगे.

मंगलवार को गमरी पट्टी के ग्रामीण धरासू उल्लंन मोटर मार्ग और क्षेत्र की अन्य समस्याओं के निराकरण की मांग को लेकर ढोल-दमाऊ के साथ कलक्ट्रेट परिसर पहुंचे.

जहां उन्होंने प्रदेश सरकार और प्रशासन की उदासीनता पर जमकर नारेबाजी की. साथ ही उन्होंने बताया कि क्षेत्र में अभी भी पेयजल, स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के लिए लंबे समय से ग्रामीण क्रमिक अनशन पर हैं. लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई. इस कारण ग्रामीणों को मजबूरन ढोल- दमाऊ के साथ आना पड़ा.

गमरी पट्टी के शिव शंकर पैन्यूली ने बताया कि साल 1989 में गमरी पट्टी की धरासू उल्लंन मोटर मार्ग स्वीकृत हो गया था, लेकिन आज तक सड़क नहीं बन पाई है.

साथ ही क्षेत्र में कई ऐसी समस्याएं हैं, जिनका निराकरण अभी तक नहीं हो पाया है. वहीं, स्थानीय देवकी राणा ने बताया कि अगर गांव में कोई बीमार हो जाए तो उसे इलाज के लिए मीलों का सफर तय कर हॉस्पिटल पहुंचाना पड़ता है.

विशेष