Latest NewsUncategorizedसुनो सरकार

कपिल मुनी देव मंदिर में बेरोकटोक आवाजाही को लेकर मातली के ग्रामीणों ने दिया धरना

उत्तरकाशी : आराध्य कपिल मुनी देव मंदिर व राजकीय इंटर कालेज तक आवाजाही करने में ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इन दोनों स्थानों में बेरोकटोक आवाजाही की मांग को लेकर ग्रामीणों ने सोमवार को मातली में धरना दिया।

मातली में ग्रामीणों की ओर से एक दिवसीय सत्याग्रह धरने का आयोजन किया गया। ग्रामीणों ने बताया कि 1999 में आइटीबीपी की यूनिट स्थापना के दौरान ही ग्रामीणों के साथ इस बात पर सहमति बनी थी कि ग्रामीणों के आराध्य कपिल देव मुनी महाराज के मंदिर तक ग्रामीणों की आवाजाही नहीं रोकी जाएगी। ग्रामीण बेरोकटोक आवाजाही कर सकेंगे। लेकिन हाल के कुछ वर्षो में आइटीबीपी सुरक्षा का हवाला देकर ग्रामीणों को मंदिर तक आने नहीं दे रही है। इस संबंध में ग्रामीणों की आवाजाही पर पाबंदी हटाने का शपथ पत्र आइटीबीपी कोर्ट में भी दे चुकी है, लेकिन धरातल में आइटीबीपी ने अभी भी ग्रामीणों की आवाजाही को बेरोकटोक बहाल नहीं किया है। जिस कारण ग्रामीणों को आंदोलित होना पड़ रहा है।

वहीं ग्रामीणों के धरना स्थल पर भाजपा नेत्री शांति गोपाल रावत, लोकेंद्र सिंह बिष्ट और सूरतराम नौटियाल पहुंचे तथा ग्रामीणों के धरने का समर्थन किया। शांति गोपाल रावत ने कहा कि कपिल मुनी महाराज मातली के ग्रामीणों के आराध्य हैं। अपने आराध्य देव की पूजा, दर्शन करने से रोकना दुर्भाग्यपूर्ण है। देश की सुरक्षा में तैनात सैनिकों का हम सम्मान करते हैं, लेकिन स्थानीय ग्रामीणों से भी ऐसा क्या खतरा है कि जो उनके आराध्य से उन्हें दूर किया जा रहा है।

इस मौके पर शांति गोपाल रावत और लोकेंद्र सिंह बिष्ट ने आइटीबीपी के वरिष्ठ अधिकारियों से वार्ता कर इस मामले का त्वरित समाधान निकालने की मांग की।

Leave a Response