सुनो सरकार

बेटे के निशुल्क ईलाज़ के लिए दर-दर भटक रहा है अल्मोड़ा का ग्रामीण

अल्मोड़ा। ऑनलाइन राशन कार्ड में बेटे का नाम न चढ़ने से एक गरीब ग्रामीण को निशुल्क चिकित्सा का लाभ नहीं मिल पा रहा है। गरीब बेटे के इलाज के लिए वह दर-दर भटक रहा है।

जिले के भैंसियाछाना ब्लाक के डालाकोट निवासी भुवन चंद्र डालाकोटी का 10 वर्षीय बेटा 20 जुलाई को खेलते वक्त गिर गया जिससे उसे चोट लग गई। परिजन बच्चे को इलाज के लिए पहले अल्मोड़ा जिला चिकित्सालय लाए। यहां से उसे बेस चिकित्सालय अल्मोड़ा रेफर किया गया। बेस से उसे हल्द्वानी सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। अब वहां भुवन चंद्र अपना बीपीएल कार्ड लेकर घूम रहे हैं। चिकित्सालय के अधिकारियों का कहना है कि राशनकार्ड में बच्चे का नाम ऑनलाइन नहीं चढ़ा है। इस वजह से बच्चे को निशुल्क चिकित्सा का लाभ नहीं मिल पा रहा है।

भुवन चंद्र का कहना है कि वह पंडिताई कर परिवार का पालन पोषण कर रहे हैं। उनके पास बच्चे के इलाज के लिए पैसे तक नहीं है। भुवन चंद्र ने सरकार से बीपीएल परिवार की तरह इलाज की सुविधा की गुहार लगाई है। भुवन के पास बीपीएल नंबर है और बीपीएल कार्ड भी है। ऑनलाइन राशन कार्ड में बेटे का नाम न चढ़ने से बच्चे का मुफ्त इलाज नहीं हो रहा है।

Leave a Response