देश/प्रदेश

जब वीआइपी का दौरा होगा, तब भरेंगे सड़क के गड्ढे

गोपेश्वर: जिला मुख्यालय गोपेश्वर की सड़कों पर बने गड्ढे दुर्घटना का सबब बने हैं। प्रशासन की लापरवाही से लोगों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। आए दिन गड्ढों में दोपहिया वाहन चालक हादसे का शिकार हो रहे हैं।

लोक निर्माण विभाग प्रतिवर्ष सड़कों के रख रखाव के नाम पर लाखों रुपये खर्च करता है। लेकिन, हाल यह है कि सड़कों पर गड्ढे कायम रहते हैं। बस स्टेशन के अलावा पुलिस थाना रोड, पेट्रोल पंप, जीरा बैंड, इंदिरा मार्केट, पीजी कॉलेज रोड, बसंत विहार मोटर मार्ग समेत कई जगहों पर गड्ढे हैं। हां यह बात जरूर है कि जब कोई वीआइपी या वीवीआइपी आता है तो प्रशासन इन गड्ढों के ऊपर मिट्टी, रेत, कंकरीट के टल्ले डालकर सड़कों को दुरुस्त दिखाने का प्रयास करता है। सड़क के गड्ढों में कई बार दुपहिया वाहन चालक भी चोटिल हो चुके हैं। रात्रि को सड़क पर आवाजाही करने वाले राहगीर भी इन गड्ढों का शिकार हो चुके हैं। कई बार शिकायत के बाद भी लोक निर्माण विभाग व प्रशासन कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। जबकि आए दिन प्रशासन व लोनिवि के अधिकारियों के वाहन भी इन गड्ढों के ऊपर से हिचकोले खाते नजर आते हैं।

गोपेश्वर गांव निवासी महेंद्र सिंह नेगी का कहना है कि लोक निर्माण विभाग से कई बार गड्ढों को भरने की मांग की गई, आंदोलन भी हुए। लेकिन, आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। इस मामले में लोक निर्माण विभाग के ईई धन सिंह रावत का कहना है कि जरूरत पड़ने पर सड़क को दुरुस्त किया जाता है। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में मुख्यालय की सड़कों के हालात ठीक हैं। यदि कोई समस्या है तो उसका समाधान किया जाएगा।

विशेष