उम्मीदें

सुधरेगा प्राइमरी एजुकेशन का स्तर, जल्द तैयार होंगे सेंटर ऑफ एक्सीलेंस

देहरादून: प्रदेश में प्रारम्भिक और जूनियर शिक्षा के स्तर को सुधारने और अतिरिक्त आर्थिक बोझ कम करने के लिए शिक्षा विभाग नई कवायद करने जा रहा है. इस कवायद को सेंटर ऑफ एक्सीलेंस थीम के नाम से शुरू किया जा रहा है. शिक्षा विभाग के तैयार खाके के अनुसार प्रदेश में 5 किमी की परिधि में एक उत्कृष्ट विद्यालय बनाया जाएगा. जहां पर छात्र-छात्राओं के लिए हर प्रकार की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी. इन 5 किमी की परिधि में आने वाले सरकारी स्कूलों के छात्रों को वहां पर प्रवेश दिया जाएगा. छात्र-छात्राओं के लिए स्कूल लाने और छोड़ने के लिए यातायात सुविधा भी उपलब्ध करवाई जाएगी.

इसके अंतर्गत प्रत्येक 5 किमी की परिधि में प्राथमिक और जूनियर के लिए एक ही स्कूल बनाया जाएगा और वहां पर 5 से 6 शिक्षकों की तैनाती की जाएगी. साथ ही आसपास के कम छात्र संख्या वाले स्कूलों के छात्रों को वहां प्रवेश दिया जाएगा. हालांकि, इसमें यह भी है कि अगर कोई छात्र पुराने स्कूल को नहीं छोड़ना चाहता, तो उसे यथावत रखा जाएगा.

शिक्षा निदेशक प्रारम्भिक वंदना गर्ब्याल ने बताया कि शासन के निर्देश पर शिक्षा विभाग की ओर से एक खाका तैयार किया गया है. जिससे 5 किमी की परिधि में एक उत्कृष्ट विद्यालय बनाया जाएगा. शासन के निर्देश पर यह प्रयास इसलिए किया गया है जिससे कि कम छात्र संख्या के स्कूल की समस्या और राज्य और केंद्र सरकार की ओर से स्कूल के रख-रखाव के लिए जो बजट आता है, उसको एक ही स्थान पर लगाकर छात्र-छात्राओं को अच्छी शिक्षा दी जाएगी.

Leave a Response