देश/प्रदेश

दिल्ली में हुई हिंसा के चलते टिहरी के युवक की निर्मम हत्या, जांच में जुटी पुलिस

टिहरी: दिल्ली में सीएए के विरोध में भड़की हिंसा में टिहरी के विनोद प्रसाद ममगाईं की शनिवार रात चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई. विनोद प्रसाद ममगाईं मयूर विहार फेज-3 में रहते थे. उनके शरीर पर कई जगह चाकू से वार करने के साथ ही दोनों हाथ काट दिए गए. बता दें कि कुछ दिनों पहले पौड़ी गढ़वाल के दिलवर सिंह नेगी की भी दंगे में मौत हो गई थी.

टिहरी के चंबा क्षेत्र के जुगड़ गांव का निवासी विनोद प्रसाद ममगाईं की दिल्ली में चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई. वो दिल्ली के द्वारका सेक्टर-19 बी में एक पावर कंपनी में काम करते थे. वो रोजाना की तरह 29 फरवरी की सुबह वो अपनी ड्यूटी के लिए निकले थे. लेकिन, जब शाम को वो घर नहीं पहुंचे तो परिजनों को कुछ अनहोनी की आशंका हुई.

विनोद प्रसाद ममगाईं का शव वेस्ट दिल्ली के मोती नगर थाना इलाके में पुलिस को 2 मार्च की सुबह मिला. पुलिस के अनुसार, करीब नौ बजे पीसीआर पर कॉल आई. एक शव छठ घाट बसई दारापुर के पास पड़ा हुआ है. विनोद प्रसाद ममगाईं को चाकू और किसी अन्य तेज धारदार हथियार से मारा गया है. साथ ही दोनों हाथ भी काटे गए हैं, लेकिन हाथ शरीर से अलग नहीं हुए हैं.

विशेष