देश/प्रदेश

सुबाथू के शहीद जवान भीम बहादुर पुन पंचतत्व में विलीन

सोलन: भारतीय सेना के जवान भीम बहादुर पुन (राहुल) श्रीनगर में देश सेवा करते हुए शहीद हो गए. भीम बहादुर पुन सोलन जिला के सुबाथू के रहने वाले थे और इन दिनों श्रीनगर में राष्ट्रीय राइफल (आरआर) में तैनात थे. रविवार सुबह 11 बजे राजकीय एवं सैन्य सम्मान के साथ शहीद का अंतिम संस्कार सुबाथू स्थित रामबाग श्मशान घाट में किया गया.

बता दें कि सुबाथू का जांबाज श्रीनगर में 7 नवंबर को हिमस्खलन (Avalanche) में दबने से शहीद हो गया था. मौसम खराब होने के चलते पार्थिक देह लाने में दिक्कत हो रही थी. शहीद भीम बहादुर श्रीनगर में आरआर (RR) में तैनात थे. एक अन्य जवान के साथ सीमा पर क्यूआरटी से गश्त पर थे. इसी दौरान वह शहीद हुए.

बीते बुधवार को इस अप्रिय घटना की सूचना जब उनके पैतृक गांव नया नगर में पहुंची तो पूरे क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई. सेना के जवानों ने भी शोक संतप्त परिवार के घर पहुंचकर परिजनों को ढांढस बंधाया.

गुरुवार सुबह से ही शहीद के घर लोग सांत्वना देने के लिए आ रहे हैं. भीम पुन अपनी माता-पिता की इकलौती संतान थे. भीम पुन चार साल पहुले ही गोरखा रेजिमेंट में भर्ती हुए थे. बता दें कि करीब 10 महीने पहले ही शहीद जवान भीम बहादुर पुन की शादी हुई थी. वहीं, सैनिक की शहादत पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर कैबिनेट मंत्रियों व अन्य नेताओं ने शोक व्यक्त किया है.

रविवार सुबह 11 बजे भीम बहादुर पुन का पार्थिव शव पंचतत्व में विलीन हो गया. हर किसी की आंख नम थी, माता पिता और पत्नी की आंखें नम होकर सिर्फ यहीं कह रहीं थी कि भीम बहादुर अभी आयेगा, वहीं पूरे राजकीय सम्मान के साथ सलामी देकर राहुल पुन को विदा किया गया.

कैबिनेट मंत्री राजीव सैजल, सोलन विधानसभा के विधायक धनीराम शांडिल, डीएसपी परवाणु, और आर्मी के जवान तैनात रहे. शहीद के घर पहुंचे मंत्री राजीव सहजल, सोलन विधायक धनीराम शांडिल. परिजनों को सांत्वना दी. उनके साथ सुबाथू छावनी के स्टेशन कमांडिंग अफसर ब्रिगेडियर हरप्रीत सिंह संधू भी थे.

मंत्री राजीव सैजल ने कहा कि दुख की इस घड़ी में सरकार शहीद के परिवार के साथ है और शहीद के परिवार के सदस्यों की हरसंभव मदद की जाएगी. ब्रिगेडियर संधू और सोलन विधायक कर्नल धनीराम शांडिल ने भी आश्वस्त किया कि भारतीय सेना शहीद के परिवार के साथ है और उन्हें सरकार की तरफ से मिलने वाली हरसंभव सुविधाएं जल्द मुहैया करवाई जाएंगी.

विशेष