राष्ट्रीय

श्रीनगर बेस अस्पताल में वर्षों पुरानी परंपरा का अंत

श्रीनगर: वीर चंद्र सिंह गढ़वाली मेडिकल कॉलेज से संबद्ध बेस अस्पताल की एक पुरानी परंपरा बदलने जा रही है. बेस अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक के आदेश के अनुसार अब ब्लड सैंपल प्रयोगशाला तक ले जाने के लिए परिजनों को नहीं जाना होगा. अब ये कार्य वॉर्ड ब्वॉय द्वारा किया जाएगा और आदेश का पालन न करने वाले कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

बता दें, कि बेस अस्पताल की एक लंबी परंपरा टूटने जा रही है. जिसके तहत अब बेस अस्पताल में भर्ती मरीज का अगर ब्लड टेस्ट होना है तो वह अपने उस टेस्ट के लिए सैंपल देने से लेकर रिपोर्ट लाने तक का कार्य वॉर्ड में तैनात वॉर्ड सेवक, सेविकाओं को करना होगा.

बेस अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक केपी सिंह ने इस संबंध में आदेश जारी करते हुए कहा कि अस्पताल में तैनात 69 सेक्टर इंचार्ज, कक्ष सेवक और सेविकाओं की जिम्मेदारी सुनिश्चित कर दी गई है. इससे पूर्व अस्पताल में भर्ती मरीजों के परिजनों को सैंपल ले जाने से लेकर जांच रिपोर्ट लाने तक के लिए इधर से उधर भटकना पड़ता था, जिससे उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता था.

चिकित्सा अधीक्षक केपी सिंह की ओर से जारी आदेश में साफ लिखा गया है कि आदेशों का पालन न करने वाले कर्मियों पर आवश्कताअनुसार कार्रवाई की जाएगी.

विशेष