देश/प्रदेश

कर्मचारियों की भारी कमी से जूझ रहा समाज कल्याण विभाग

पौड़ीः समाज कल्याण विभाग की ओर से जरूरतमंद लोगों को आर्थिक मदद के लिए पेंशन आदि दी जाती है. साथ ही सरकार की ओर से विभिन्न प्रकार की योजनाओं को चलाया जा रहा है

ताकि विभाग की ओर से जन-जन तक योजनाओं को पहुंचाया जाए, लेकिन जनपद पौड़ी के समाज कल्याण विभाग में कर्मचारियों की कमी के चलते कैसे जन-जन तक इन योजनाओं को पहुंचाया जाएगा,

यह सबसे बड़ा सवाल खड़ा हो रहा है. समाज कल्याण विभाग में स्वीकृत पदों के सापेक्ष 50% पद रिक्त चल रहे हैं, जिससे संभव नहीं है कि जन-जन तक हर योजनाओं को पहुंचाया जाए.

वहीं, उपनल कर्मचारियों की मदद से विभाग तेजी से काम करने का प्रयास कर रहा है. जनपद पौड़ी बहुत बड़ा जिला होने के साथ ही प्रदेश के मुख्यमंत्री का गृह क्षेत्र भी है

जिसके चलते यहां पर अतिरिक्त कर्मचारियों की आवश्यकता पड़ रही है. समाज कल्याण विभाग में वर्तमान में 50% पद रिक्त चल रहे हैं इससे कहीं न कहीं योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने में काफी परेशानी भी हो रही है. विभाग की ओर से उपनल कर्मचारी की मदद से तेजी से काम करने का प्रयास किया जा रहा है.

समाज कल्याण अधिकारी सुनीता अरोरा ने बताया कि स्वीकृत पदों के सापेक्ष मात्र 50% पद ही भरे हैं और 50% पद रिक्त चल रहे हैं. जनपद पौड़ी प्रदेश के मुख्यमंत्री का गृह क्षेत्र होने के साथ-साथ बहुत बड़ा जिला है

यहां पर 15 ब्लॉकों में सहायक समाज के अधिकारियों के पद स्वीकृत हैं इनमें से 5 पद रिक्त चल रहे हैं वहीं एक को हरिद्वार संबंध करने के आदेश प्राप्त हुए हैं जिससे काफी परेशानी विभाग को हो रही है.

अरोरा ने बताया कि जनपद में समाज कल्याण की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने और विभाग से संबंधित लाभार्थियों को लाभ देने के लिए उन्हें अतिरिक्त कर्मचारियों की आवश्यकता है.

जिस तरह से लगातार तेजी से पलायन हो रहा है उसको देखते हुए विभाग की जिम्मेदारी है कि वह अपनी सारी योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाए जिसके लिए उन्हें कर्मचारियों की आवश्यकता है

वहीं, विभाग में पहले से ही 50% पद रिक्त चल रहे हैं जिसके चलते उन पर कार्य का अतिरिक्त भार पड़ रहा है. बताया जा रहा है कि सरकार की ओर से जल्द इन पदों को भरा जाता है और उन्हें अतिरिक्त कर्मचारी मिलते हैं तो वह अपनी योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने में कामयाब हो पाएंगे.

विशेष