विविध

‘सिर तन से जुदा, अब RSS की पत्रिका के लिए लिखने वाले पत्रकार को मिली धमकी

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के इंदिरापुरम में रहने वाले एक पत्रकार को मोबाइल पर ‘सिर तन से जुदा’ की धमकी मिली है. धमकी जिस पत्रकार को दी गई है राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) की पत्रिका पंचजन्य से जुड़ा है. धमकी आने के बाद पत्रकार ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है, जिसके बाद पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी है. वहीं पुलिस की साइबर सेल की टीम गाजियाबाद में जिन लोगों को इस प्रकार की धमकी आई है, उनकी सर्विलांस के द्वारा तलाश कर रही है.

बता दें कि पत्रकार से पहले गाजियाबाद में रहने वालेे एक डॉक्टर को वॉट्सएप कॉल और एक महंत के घर चिट्ठियां भेज कर ‘सिर तन से जुदा’ की धमकी दी गई है, जिसके उनके परिवार के लोग खोफ में हैं.

जान से मारने की धमकी

दरअसल पत्रकार निशांत कुमार आज़ाद को 10 सितंबर को जान से मारने की धमकी मिली थी, जिसमें चेतावनी दी गई थी कि अगर उन्होंने हिंदुत्व संगठनों का समर्थन करना जारी रखा तो उनका सिर काट दिया जाएगा. एफआईआर के अनुसार, निशांत को एक व्हाट्सएप वीडियो, ऑडियो कॉल और उर्दू और अंग्रेजी में मैसेज एक अज्ञात यूएस-आधारित नंबर [+(701) 543-0549] से 10 सितंबर की शाम लगभग 7:00 बजे मिला था.

इस्लाम के खिलाफ एजेंडे का प्रचार बंद करो

इस मैसेज में लिखा है कि “गुस्ताख-ए-नबी की एक ही साजा, सिर तन से जुदा सिर तन से जुदा” और ‘इस्लाम के खिलाफ एजेंडे का प्रचार बंद करो. जब पत्रकार ने उससे उसकी पहचान के बारे में पूछा, तो उसने जवाब दिया कि वह निशांत के बारे में सब कुछ जानता है और अगर वह इस तरह के मुद्दों पर फिर से लिखना जारी रखता है, तो उसे परिणाम भुगतने होंगे. रिपोर्ट के अनुसार, फोन करने वाले ने कन्हैया कुमार और उमेश कोल्हे का भी जिक्र किया.

कांग्रेस की आलोचना का भी जिक्र

धमकी देने वाले ने निशांत को हालिया ट्वीट का स्क्रीनशॉट भी साझा किया, जिसमें उन्होंने भारत जोड़ो यात्रा के बीच आरएसएस की ‘जलती हुई वर्दी’ की तस्वीर पोस्ट करने के लिए कांग्रेस की आलोचना की थी. गौरतलब है कि निशांत ने कभी किसी धर्म की धार्मिक भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचाई और न ही उन्होंने मुहम्मद पर कोई टिप्पणी की है.

Leave a Response