देश/प्रदेश

उत्तराखंड छात्रवृत्ति घोटाला : कंप्यूटर ऑपरेटर पत्नी सहित गिरफ्तार

हरिद्वार। उत्तराखंड छात्रवृत्ति घोटाले की जांच कर रही एसआइटी ने रविवार को समाज कल्याण विभाग के एक कंप्यूटर ऑपरेटर को पत्नी समेत गिरफ्तार कर लिया। पति-पत्नी ने रुड़की के पनियाला गांव में हिमाचल प्रदेश की मानव भारती यूनिवर्सिटी का फर्जी स्टडी सेंटर खोला हुआ था। वर्ष 2013-14 में दोनों ने समाज कल्याण विभाग से करीब 16.69 लाख रुपये की छात्रवृत्ति लेकर गबन कर लिया। रविवार दोपहर कोर्ट में पेश करने के बाद दोनों को जेल भेज दिया गया। हरिद्वार और देहरादून जिले में हुए छात्रवृत्ति घोटाले की जांच कर रही एसआइटी की ओर से हरिद्वार के सिडकुल थाने में 14 अक्टूबर 2019 को मानव भारती यूनिवर्सिटी सोलन हिमाचल प्रदेश के खिलाफ एक मुकदमा दर्ज कराया गया था। जिसकी जांच उपनिरीक्षक राजीव उनियाल को सौंपी गई। जांच के दौरान पता चला कि मानव भारती यूनिवर्सिटी के स्टडी सेंटर के रूप में रुड़की के तांसीपुर गांव में चलने वाले किरन इंस्टीट्यूट ने वर्ष 2013-14 में करीब 16.69 लाख रुपये की छात्रवृत्ति ली है। जबकि, यूनिवर्सिटी ने ऐसे किसी सेंटर को मान्यता नहीं दी है। सेंटर के दस्तावेज फर्जी पाए जाने पर टीम ने छात्रवृत्ति लेने वाले 21 छात्र-छात्राओं के घर जाकर उनसे संपर्क साधा।

विशेष