देश/प्रदेश

रुद्रप्रयाग पालिका अब कूड़े से खाद बनाने की कर रही तैयारी

रुद्रप्रयाग: नगर पंचायत अगस्त्यमुनि और तिलवाड़ा को स्वच्छ व सुन्दर बनाने की दिशा में नगर पंचायतों की ओर से विशेष प्रयास किए जा रहे हैं. नगर पंचायतें अजैविक कूड़े से लाखों की आय प्राप्त कर चुकी हैं, जबकि लाखों का अजैविक कूड़ा बिक्री के लिए तैयार है. स्वच्छता के क्षेत्र में नगर पंचायत अगस्त्यमुनि को राष्ट्रीय स्तर पर स्वच्छ संरक्षण पुरस्कार और उत्तर भारत में प्रथम एवं राज्य स्तर पर निर्मल नगर पुरस्कार मिल चुका है.बता दें, साल 2013 में अगस्त्यमुनि नगर पंचायत की स्थापना हुई.

तब से नगर में सफाई को लेकर व्यापारियों के साथ नगरवासियों को जागरूक किया जा रहा है, जिससे प्रदेश में नगर स्वच्छ व सुंदर बन सके. नगर को स्वच्छता के क्षेत्र में अग्रणी बनाने के लिए नगर पंचायत में लगभग 30 सफाई कर्मी तैनात हैं, जबकि दो मोबाइल कूड़ा वाहन भी सफाई में लगे हैं.

नगर में पर्यावरण मित्र डोर-टू-डोर गीले व सूखे कूड़े को अलग-अलग इकट्ठा किया जाता है. जिसके बाद 14 प्रकार के अजैविक कूड़े को अलग किया जाता है और फिर कॉम्पैक्ट कर रिसाइक्लिंग के लिए भेजा जा रहा है.नगर पंचायत ने गत अप्रैल से अब तक नगर के कूड़े से लाखों रुपए की आय प्राप्त कर चुकी है.

जबकि लाखों का कूड़ा बिक्री के लिए तैयार किया गया है. जिसे शीघ्र ही रिसाइक्लिंग के लिए भेजा जाएगा. नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी हरेन्द्र चौहान का कहना है कि नगर को स्वच्छ व सुन्दर रखने के लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं. अजैविक कूड़ा बेचने से 60 हजार की आय प्राप्त हुई है.

लगभग एक लाख रुपये का और अजैविक कूड़े को एकत्रित कर रिसाइक्लिंग के लिए तैयार किया गया है. उन्होंने बताया कि खाद तैयार करने के लिए कंपोस्टिंग यूनिट से बनाने की योजना पर भी कार्य चल रहा है.वहीं, नगर पंचायत तिलवाड़ा में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन योजना में इस ओर बेहतर कार्य किया जा रहा है.

इसके लिए शहरी विकास मंत्रालय ने ठोस अपशिष्ट प्रबंधन में उत्कृष्ट कार्य करने पर बधाई दी गई है. नगर पंचायत की ओर से क्षेत्र को स्वच्छ रखते हुए कूड़ा निस्तारण के मानकों का पालन किया जा रहा है. जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि नगर पंचायत तिलवाड़ा और अगस्त्यमुनि की ओर से जैविक व अजैविक कूड़े को पृथक किया जा रहा है.

नगर पंचायतों की ओर से क्षेत्र को स्वच्छ रखा जा रहा है और निस्तारण का पालन भी बखूखी किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि नगर पालिका रुद्रप्रयाग, नगर पंचायत ऊखीमठ के अधिशासी अधिकारियों को रात्रि को तिलवाड़ा में रात्रि विश्राम करने को गया है और नगर पंचायत में कूड़ा निस्तारण की प्रक्रिया को समझते हुए प्रक्रिया को अपने-अपने नगर पालिका व नगर पंचायत क्षेत्रों में अनुपालन करने के निर्देश दिए गए हैं.

विशेष