Latest Newsराष्ट्रीय

लखनऊ में रिटायर्ड आईएफएस अफसर ने खुद को गोली से उड़ाया

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ के गोमतीनगर में सेवानिवृत्त मुख्य वन संरक्षक अतिबल सिंह ने शुक्रवार को अपने आवास पर लाइसेंसी रिवॉल्वर से खुद को गोली मार ली. बाथरूम में उसका खून से लथपथ शव मिला. वहीं पुलिस को कमरे से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है. वहीं पुलिस का कहना है कि शुरुआती जांच में ये सामने आया है कि वह बीमारी से परेशान थे और इसके कारण उन्होंने ये कदम उठाया. जिस वक्त अतिबल सिंह ने आत्महत्या की, उस वक्त उनकी पत्नी घर से बाहर गई थी और उनका नौकर घर पर मौजूद था.

जानकारी के मुताबिक मूलरूप से सुल्तानपुर के बिलहरी निवासी अतिबल सिंह पत्नी आशा के साथ विशाल खंड में रहते थे. उनकी बड़ी बेटी आकांक्षा की शादी हो चुकी है और बेटा अभिषेक सिंह नोएडा में काम करता है. जबकि छोटी बेटी अनामिका वन विभाग में ही कार्यरत है. अतिबल सिंह की पत्नी आशा के मुताबिक शुक्रवार को 11 बजे वह चालक से परिचित से मिलने विपुलखंड गई थी और घर पर नौकर रामू मौजूद था. वहीं दोपहर 11.30 बजे अतिबल सिंह बाथरूम में गए और फायरिंग की आवाज सुनाई दी और रामू भागकर बाथरूम की तरफ भागा. वहां अतिबल खून से लथपथ पड़े थे. रामू ने फोन कर चालक शव मंगल को सूचना दी। इसके बाद आशा घर लौट आई.

अस्पताल में डॉक्टरों ने किया मृत घोषित

वहीं अतिबल सिंह को ड्राइवर और नौकर की मदद से सहारा अस्पताल में ले जाया गया और जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. एसीपी गोमतीनगर श्वेता श्रीवास्तव के मुताबिक विशालखंड स्थित घर पहुंचने पर पुलिस को बाथरूम में लाइसेंसी रिवॉल्वर पड़ी मिली है. उनका कहना है कि रिटायर्ड ऑफिसर ने कनपटी के दाईं ओर गोली चलाई थी और मौके से रिवॉल्वर, उसकी धागा और उनका चश्मा बरामद किया गया है.

हड्डी की बीमारी से अवसाद में थे अतिबल सिंह

अतिबल सिंह के नौकर रामू के मुताबिक वह रीढ़ की हड्डी की बीमारी से परेशान थे और उनके घुटने भी ठीक से काम नहीं कर रहे थे. रीढ़ की हड्डी की बीमारी के चलते अतिबल सिंह को बेल्ट को दिनभर पहनना पड़ता था और इसके कारण वह परेशान रहते थे.

Leave a Response