विविध

दिल्ली में ‘पेट डॉग्स’ का रजिस्ट्रेशन अनिवार्य, MCD लेगा एक्शन

दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) ने रविवार को लोगों को अपने-अपने पालतू जानवरों का पंजीकरण कराने का निर्देश दिया. साथ ही ऐसा नहीं करने पर सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी है. एमसीडी ने यह कदम शहर और आसपास के इलाकों में कुत्तों के लोगों को काटने की बढ़ती घटनाओं के बीच उठाया है. एमसीडी के पशु चिकित्सा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली नगर निगम अधिनियम के तहत पालतू कुत्तों का पंजीकरण कराना अनिवार्य है, लेकिन फिर लोग अपने जानवरों का रजिस्ट्रेशन नहीं कराना चाहते हैं.

दिल्ली एमसीडी ने एक बयान जारी कर कहा कि कुत्तों के हमले की बढ़ती घटनाओं के मद्देनजर नागरिकों से अपील है कि वह अपने पालतू कुत्तों का रजिस्ट्रेशन जरुर करा लें. ऐसा करना दिल्ली नगर निगम अधिनियम-1957 की धारा-399 के तहत अनिवार्य है. यह धारा उन पालतू कुत्तों को सार्वजनिक स्थलों पर पाए जाने पर हिरासत में लेने का अधिकार देती है, जो नगर निगम में पंजीकृत नहीं हैं.

पालतू जानवरों का पंजीकरण कराना अनिवार्य

दरअसल दिल्ली नगर निगम ने रविवार को अपने क्षेत्र में निर्देश जारी करते हुए कहा कि अब पालतू जानवरों का पंजीकरण कराना अनिवार्य है. एमसीडी अधिकारियों के मुताबिक ऐसा नहीं करने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. नगर निकाय ने यह कदम शहर और आसपास के इलाकों में कुत्तों के लोगों को काटने की बढ़ती घटनाओं के बीच उठाया है.

लगातार सामने आ रही हैं कुत्तों के काटने की घटनाएं

बता दें कि दिल्ली एनसीआर समेत देश के कई राज्यों में कुत्तों के काटने की घटनाएं सामने आ रहीं हैं. यूपी के लखनऊ में एक बुजुर्ग महिला की पिटबुल के काटने से मौत भी हो चुकी है. वहीं हाल ही में गाजियाबाद के एक बिल्डिंग की लिफ्ट में बच्चे को कुत्ते ने काट लिया था. वहीं ताजा मामला लखनऊ से फिर आया है, जहां गोमती नगर के विराम खंड-2 में घर के पास टहल रहे युवक पर पिटबुल ने हमला कर दिया. युवक अपनी मां के साथ टहल रहा था. पिटबुल ने जैसे ही युवक पर हमला किया तो उसकी मां बचाने के लिए दौड़ी, लेकिन तभी फिसल कर गिर गई. मां को भी चोट आई है.

Leave a Response