Latest Newsनेतागिरी

रणजीत रावत ने बढ़ाई हरीश रावत की मुश्किलें, रामनगर सीट छोड़ने को तैयार नही

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव (Uttarakhand Election) से पहले कांग्रेस (Congress) नेता और राज्य के पूर्व सीएम हरीश रावत (Harish Rawat) और उनके करीबी सहयोगी रणजीत सिंह रावत के बीच रामनगर सीट को लेकर ठनी हुई है. कांग्रेस हरीश रावत को सेफ सीट माने जाने वाली रामनगर सीट से टिकट देना चाहती है जबकि कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष रणजीत सिंह रावत सीट को छोड़ना नहीं चाहते हैं और रामनगर से ही दावेदारी कर रहे हैं. वहीं हरीश रावत रणजीत सिंह को सल्ट सीट में भेजना चाहते हैं. जहां पिछले साल हुए उपचुनाव में कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा था.

असल में रणजीत सिंह, हरीश रावत की सियासी चाल को समझ रहे हैं और सल्ट से चुनाव लड़ने का विरोध कर रहे हैं. जिसके कारण उत्तराखंड की राजनीति गर्मा गई है. वहीं कांग्रेस के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष रंजीत रावत ने दावा किया वह रामनगर सीट से चुनाव लड़ेंगे. क्योंकि इस सीट पर उन्होंने काम किया है और जनता भी उनके साथ है. बताया जा रहा है कि पार्टी के वरिष्ठ नेता रंजीत रावत को सल्ट से चुनाव लड़ने के लिए मना रही है लेकिन रणजीत सिंह रामनगर सीट को छोड़ने को तैयार नहीं हैं. यहां तक उनके समर्थकों ने टिकट नहीं मिलने पर निर्दलीय चुनाव लड़ने को कहा है. क्योंकि रणजीत सिंह को मालूम है कि रामनगर में जीतने की गारंटी है जबकि सल्ट से उन्हें मेहनत करनी होगी और उपचुनाव में कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा था.

2017 से ही रामनगर में सक्रिय हैं रणजीत सिंह

असल में रणजीत सिंह रावत 2017 का चुनाव हारने के बाद से ही रामनगर में सक्रिय हैं. लिहाजा उन्हें उम्मीद है कि वह रामनगर से चुनाव जीतेंगे. जबकि सल्ट में तो उन्होंने कोई कार्य नहीं किया है. लिहाजा ऐसे में जनता स्थानीय विधायक पर ही दांव खेलेगी. इसलिए रणजीत सिंह खुलकर रामनगर से चुनाव लड़ने का दावा कर रहे हैं. कांग्रेस की पहली सूची में रामनगर सीट को होल्ड पर रखा है. जबकि हरीश रावत इस सीट पर दावा कर रहे हैं.

बागी हो सकते हैं रणजीत सिंह

वहीं चर्चा है कि अगर रणजीत सिंह को रामनगर से टिकट नहीं मिला तो वह बागी हो सकते हैं और निर्दलीय भी चुनाव लड़ सकते हैं. वहीं रामनगर में कुछ बीजेपी नेताओं को कांग्रेस में शामिल कराकर रणजीत सिंह ने अपनी ताकत का एहसास भी कराना चाहा. वहीं रणजीत सिंह के समर्थक भी चाहते हैं कि वह रामनगर से चुनाव लड़ें.

Leave a Response