देश/प्रदेश

चमोली में हुआ रेंज स्तरीय क्षेत्रीय परामर्शदायी समिति का गठन

[सुभाष पिमोली] चमोली: वन पंचायत को क्रयाशील एंव मजबूत बनाने के लिए यहां पर रेंज स्तरीय क्षेत्रीय परामर्शदायी समिति का गठन किया गया।

बैठक मे सभी गांवो में वन पंचायतो के गठन व पुर्नगठन पर बल दिया गया।यहां ब्लाक सभागार मे थराली के उपजिलाधिकारी केएस नेगी की अध्यक्षता में आयोजित मध्य पिंडर रेंज थराली के वन पंचायत की एक बैठक में बद्रीनाथ वन प्रभाग के सहायक वन संरक्षक अमरेश कुमार ने कहां की जब तक वन पंचायते मजबूत नही होती हैं।

तब तक सिविल एंव आरक्षित वनो व बंय जीवों की सुरक्षा की कल्पना तक करना बेकार हैं। उन्होने वन पंचायतो के गठन के साथ ही उन्हे सक्रीय बनाने की आवश्यक्ता पर बल दिया।

एसडीएम केएस नेगी ने कहां की बदलते समय के साथ वन विभाग को भी बदलना होगा विभाग को आम ग्रामीणो के साथ संपर्क कायम कर वनो की सुरक्षा के लिए उन्हे प्रेरित करना होगा ।

मध्य पिंडर रेंज थराली के वन क्षेत्राधिकारी गोपाल सिंह बिष्ट ने कहां की जल्द ही पूरानी वन पंचायतो का पुर्नगठन करने के साथ ही जिन गांवो में वन पंचायते गठित नही है।

उन में नई पंचायते गठित की जायेगी।इस मौके पर रेंज स्तरीय क्षेत्रीय परामर्शदायी समिति का गठन करते हुए वन पंचायत संगठन के जिला मंत्री महिपाल सिंह रावत को संरक्षक, देवराडा के सरपंच वीरेंद्र रावत को अघ्यक्ष,वन दरोगा गोपाल सिंह बिष्ट को पदैन सचिव,थराली के खंड विकास अधिकारी व वन आरक्षी खीमानंद खंडूडी को पदैन सदस्य एंव सरपंच बलवंत सिंह पिमोली, सुजान सिंह, सैन सिंह फर्स्वाण,विजेंद्र सिंह, धन सिंह गडिया, दयाल सिंह, मुंना राम,बसंती देवी व लक्ष्मी देवी को सदस्य चुना गया हैं।

विशेष