राष्ट्रीय

जेल से बाहर आते ही राम रहीम ने अपने अनुयायियों को दिया ‘सियासी संदेश

रोहतक: साध्वी से बलात्कार के जुर्म में हरियाणा की सुनारिया जेल में कारावास की सजा काट रहा डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह 40 दिनों की पैरोल पर अब बाहर आ गया है. रोहतक स्थित सुनारिया जेल से पैरोल पर बाहर आने के बाद गुरमीत राम रहीम ने हरियाणा के आदमपुर में होने जा रहे विधानसभा उपचुनाव और पंचायत चुनावों से पहले इशारों-इशारों में अपने श्रद्धालुओं के लिए एक चुनावी संदेश जारी किया है.

अपने अनुयायियों  के लिए जारी संदेश में राम रहीम ने कहा कि आपको जैसा बोला था, मानते रहना. जैसे भी आपको जिम्मेदार लोग बताएंगे, वैसा ही करना. मनमर्जी नहीं करनी है. बता दें कि साध्वी यौन शोषण मामले में रोहतक की सुनारिया जेल में गुरमीत राम रहीम 20 साल की सजा काट रहा है. शुक्रवार को गुरमीत राम रहीम की 40 दिन की पैरोल अर्जी स्वीकार कर ली गई थी और शनिवार सुबह करीब 6 बजे वह जेल से बाहर आया और बागपत आश्रम चला गया.

राम रहीम ने अपने अनुयायियों से क्या कहा

अपने अनुयायियों के नाम संदेश में राम रहीम ने कहा, ‘हम आश्रम में पहुंच चुके हैं. मालिक सबको खुशियां दें. पहले की तरह जैसे आपको बोला था, मानते रहना. मनमर्जियां नहीं करनी. जिम्मेदार लोगों की बात माननी है. हमें अपने बच्चों पर बहुत गर्व है. परम पिता परमात्मा आपको बहुत खुशियां दें. हमें पता है कि आपने हमारी बात माननी है. थोड़ी देर पहले ही पहुंचे हैं. वो समुद्र आपको याद ही होंगे. समुद्र ज्यादा बढ़कर आए हैं. ये तेरावास यूपी का. इसे आप देख ही रहे हैं. पता आपको चल ही गया. आपसे बातें करते रहेंगे. थोड़े बच्चों, जवानों और बुजुर्गों को आशीर्वाद. एक बार बच्चे ने पूछ लिया कि गुरुजी मैं भी आपको पिता जी कहता हूं और मेरे पापा और दादा भी पिता जी कहते हैं. ये चक्कर क्या है. मैंने कहा कि संत जो होते हैं, उनके लिए भगवान की औलाद उनकी औलाद होती है. मालिक सबको आशीर्वाद है.’

Leave a Response