पौड़ी

पौड़ी: क्वारंटाइन प्रवासी परिवार ने प्राथमिक स्कूल की बदली तस्वीर, खूब हो रही चर्चा

पौड़ी: कोरोना लॉकडाउन के बीच पौड़ी जिले में प्रवासियों के आने का सिलसिला लगातार जारी है. ये सभी प्रवासी 14 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन किए जा रहे हैं. लेकिन कुछ ऐसे भी लोग हैं जिनके पास रहने की उचित व्यवस्था नहीं है. उन्हें गांव के सरकारी विद्यालयों या सामुदायिक भवनों में रखा जा रहा है. इसी कड़ी में खिर्सू ब्लॉक के असिंगी गांव के प्राथमिक विद्यालय में एक दंपति अपने 2 बच्चों के साथ क्वारंटाइन हुए हैं. इस दौरान उन्होंने स्कूल की तस्वीर बदल दी. आज ये परिवार सभी लोगों के लिए प्रेरणा बन गया है.

पौड़ी जिले में आ रहे प्रवासियों में कुछ प्रवासी ऐसे भी हैं जो 14 दिन के क्वारंटाइन समय को सकारात्मक रूप देकर उस क्षेत्र की रूपरेखा बदलने का प्रयास कर रहे हैं. ऐसा ही उदाहरण पौड़ी गढ़वाल के खिर्सू ब्लॉक के नेगी परिवार का है. दरअसल, पौड़ी के खिर्सू ब्लॉक के असिंगी गांव के प्राथमिक विद्यालय में नेगी दंपति और उनके 2 बच्चे 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन हुए हैं. यह परिवार दिल्ली से गांव आया है.

यहां क्वारंटाइन होने के बाद उन्होंने देखा कि लॉकडाउन के कारण पिछले दो महीने से स्कूल बंद है. जिस कारण स्कूल परिसर और स्कूल के चारों ओर झाड़ियां उग आई हैं. स्कूल की फुलवारी में भी खरपतवार व घास काफी बढ़ गई है. बिना पानी के फूल पौधे भी सूख रहे हैं. ऐसे में क्वारंटाइन अवधि का सदुपयोग करते हुए स्कूल की तस्वीर बदल डाली.

इस तरह के प्रयास आज हमारे जिले में प्रवेश करने वाले प्रवासियों के लिए प्रेरणा बनेंगे. वहीं, तस्वीरें लगातार सोशल मीडिया पर वायरल होते हुए वाहवाही लूट रही हैं. यह परिवार आज उन सभी लोगों के लिए प्रेरणा बन रहा है जो लोग अपने अपने गांव वापस लौट रहे हैं.