देश/प्रदेश

औली में प्रस्तावित स्कीइंग रेस की तैयारियां तेज

देहरादून: साल 2020 में औली में प्रस्तावित FIS स्कीइंग के आयोजन की तैयारियां जोरों पर हैं. वहीं, इस आयोजन की तैयारियों का जायजा लेने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्कींइग फेडरेशन के मुख्य इंस्पेक्टर जेरार्ड बर्नाड पहुंचे थे. जिन्होंने औली स्कीइंग स्लोप के होमोलोगेशन का निरीक्षण किया. इसके अलावा बर्नाड ने रोप-वे के जरिए पूरे स्कीइंग क्षेत्र को भी देखा.

वहीं, इस निरीक्षण के बाद जेरार्ड बर्नार्ड ने स्लोप में उभर रहे पत्थरों और ड्रेनेज व्यवस्था को ठीक करने की मांग की. साथ ही स्लोप पर किसी भी प्रकार के वाहनों का संचालन तुरंत बंद कराये जाने पर भी जोर दिया.

जिससे स्कीइंग स्लोप में FIS स्कीइंग रेस कराने में कोई परेशानी ना हो. इसके साथ ही संवेदनशील क्षेत्र में एक सुरक्षा दीवार के निर्माण कराने की भी बात कही.

FIS विशेषज्ञ ने सुझाव दिया कि औली में सफल रेस के आयोजन के लिए उत्तराखंड सरकार को एक टीम गठित कर यूरोप में होने वाली स्कीइंग प्रतियोगिता में भेजना चाहिए.

जिससे टीम को स्कीइंग रेस से जुड़ी तमाम जानकारियों का पता चल सके. इसके साथ ही रेस में भाग लेने वाले खिलाड़ियों की सुरक्षा को देखते हुए कुछ संवेदनशील बिन्दुओं पर फोमिंग मैट्रेस बिछाये जाए, जिससे खिलाड़ियों को किसी तरह की परेशानी न हो.

क्या है होमोलोगेशन?
होमोलोगेशन, स्कीइंग स्लोप के आरंभिक बिंदु से अंतिम बिंदु तक लंबाई और चौड़ाई में किए जाने वाली एक औपचारिक परीक्षण प्रक्रिया है. अंतरराष्ट्रीय स्कीइंग आयोजन से पहले होमोलोगेशन कराना जरूरी होता है. इसी से स्कीइंग स्लोप की सही स्थिति के बारे में पता चलता है.

उत्तराखंड पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने कहा कि औली में स्कीइंग प्रतियोगिता को सफल बनाने पर्यटन विभाग की ओर से व्यापक तैयारियां की जा रही है. उन्होंने स्थानीय जनता से औली स्लोप के महत्व को समझते हुए इसे हर प्रकार से सुरक्षित रखने की अपील भी की.

विशेष