देश/प्रदेश

उत्तरकाशीः जिला महिला अस्पताल में जच्चा-बच्चा की मौत, परिजनों DM से लगाई जांच की गुहार

उत्तरकाशीः जिला महिला अस्पताल में एक बार फिर से बड़ी लापरवाही सामने आई है. ऑपरेशन के दौरान गर्भवती महिला और उसके बच्चे की मौत गई. जच्चा और बच्चा की मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया. परिजनों का आरोप है कि डॉक्टरों ने बिना किसी टेस्ट के गर्भवती का ऑपरेशन शुरू कर दिया था. जिससे दोनों की मौत हुई है. वहीं, परिजन मामले को लेकर डीएम के पास पहुंचे. जहां पर डीएम ने एक जांच टीम गठित कर मामले की रिपोर्ट सौंपने के आदेश दिए हैं.

जानकारी के मुताबिक, मंगलवार तड़के 3 बजे लिसा डिपो चिन्यालीसौड़ निवासी सुनील अपनी गर्भवती पत्नी रूपा देवी (35) को लेकर प्रसव के लिए जिला महिला अस्पताल पहुंचा. जहां पर गर्भवती महिला को अस्पताल में भर्ती कराया गया. परिजनों ने बताया कि डॉक्टरों ने प्रसव को सिजेरियन बताया और ऑपेरशन के लिए 11 बजे का समय दिया, लेकिन उनका आरोप है कि डॉक्टरों ने समय से पहले ही गर्भवती का ऑपेरशन शुरू कर दिया. जहां पर ऑपेरशन के दौरान जच्चा और बच्चा ने दम तोड़ दिया.

उधर, जच्चा और बच्चा की मौत से परिजन भड़क गए और जिला अस्पताल में जमकर हंगामा किया. परिजनों ने बताया कि ऑपेरशन के बाद अस्पताल में ना तो सीएमओ मिले और ना ही सीएमएस. वहीं, अस्पताल में सुनवाई न होने के बाद परिजन डीएम डॉ. आशीष चौहान के पास न्याय की गुहार लेकर पहुंचे. जहां पर डीएम ने परिजनों की पूरी बात सुनने के बाद मृतका के पोस्टमार्टम करने के आदेश दिए.

साथ ही एडीएम और एसडीएम के नेतृत्व में एक टीम गठित कर जांच के निर्देश दिए. डीएम डॉ. आशीष चौहान ने कहा कि मातृ और शिशु मौत को बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. जांच टीम को जल्द ही रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए गए हैं. जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

विशेष